Suchnaji

BSP कर्मचारी आत्महत्या केस में बड़ा अपडेट, Bokaro में होगा अंतिम संस्कार, कौन थी फोन करने वाली…

BSP कर्मचारी आत्महत्या केस में बड़ा अपडेट, Bokaro में होगा अंतिम संस्कार, कौन थी फोन करने वाली…
  • यूआरएम में कार्यरत आशीष पासवान का पोस्टमार्टम होने के बाद परिजन शव ले गए बोकारो।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। सेल भिलाई स्टील प्लांट (Bhilai Steel Plant) के कर्मचारी के आत्महत्या केस में नया मोड़ आ गया है। दो तरह की बातें अब सामने आ रही है। फांसी के फंदे पर झूलकर जान देने वाले कर्मचारी के दोस्तों और पुलिस के बयान में अंतर है। मृतक के दोस्त को फोन करने वाली कौन था, परिवार से कोई था, पत्नी थी या कोई…। इसका पता अब तक नहीं चल सका है। प्राथमिक जांच में पुलिस को जो तथ्य मिला है, उसके अलावा अन्य तथ्यों पर भी फोकस किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : BJP प्रत्याशी की कुंडली: गजेंद्र के नेतृत्व में बना वर्ल्ड रिकॉर्ड, तो 20 साल से जमीनी स्तर पर एक्टिव हैं ललित चंद्राकर

AD DESCRIPTION

फारेंसिक जांच के लिए टीम भी पहुंची। फिलहाल, झारखंड के बोकारो से मृतक के परिजन भिलाई पहुंचे। शव का पंचनामा, पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर बोकारो के लिए रवाना हो गए। शव का अंतिम संस्कार गुरुवार को बोकारो में ही किया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : Big Breaking News: भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारी ने आत्महत्या की, महिला मित्र का मिला आखिरी कॉल

नेवई थाना के प्रभारी प्रशांत मिश्र ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि आत्महत्या की बात ही प्राथमिक तौर पर स्पष्ट हो पाई है। शव के पास जो सामान मिले हैं, उसको अपने कब्जे में लिया गया है।

परिवार की तरफ से यही बताया गया है कि उसकी तबीयत ठीक नहीं थी और पत्नी भी साथ नहीं रहती थी। रक्षाबंधन के बाद से पत्नी लौटी नहीं। वह काफी परेशान रहता था। पुलिस के मुताबिक मृतक के दोस्तों को फोन आया था कि आशीष फोन नहीं उठा रहा है, घर पर जाकर चेक कीजिए। इसके बाद पता चला कि बीएसपी कर्मचारी ने आत्महत्या कर लिया है।

ये खबर भी पढ़ें : बोनस ताजा खबर 2023: Coal India में 12 साल में बढ़ा 5 गुणा और SAIL में ढाई गुणा भी नहीं बढ़ सका  Bonus, 8 साल पीछे

मृतक आशीष के साथियों ने ये बताया, परिवर्तित नाम के साथ पढ़िए

यूआरएम के कर्मचारी आशीष के करीबी दोस्त ओएचपी में कार्यरत परविंद्र (परिवर्तित नाम) ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि मंगलवार सुबह करीब 10.30 बजे उनके मोबाइल पर किसी का फोन आया। फोन करने वाली ने बताया कि आशीष का फोन नहीं रिसीव हो रहा है। आप एक बार चेक कीजिए। ड्यूटी पर होने की वजह से आशीष ने ध्यान नहीं दिया।

ये खबर भी पढ़ें : BJP प्रत्याशी कुंडली: अटल जी के लिए खून की गंगा बहाई थी प्रेम प्रकाश पांडेय ने, पढ़िए BSP की नौकरी और सियासी सफर

शाम करीब साढ़े 6 बजे दोबारा फोन आया और कहा गया कि आशीष ने आत्महत्या कर लिया है क्या? फोन नहीं उठा रहा है। इतना सुनते ही परविंद्र डर गया और अपने एक दोस्त अनीष को (परिवर्तित नाम) को फोन कर जानकारी दी। अनीष रिसाली स्थित आवास पर पहुंचे और खिड़की तोड़कर अंदर घुसने पर पता चला कि आशीष ने जान दे दी है।

ये खबर भी पढ़ें : ISP बर्नपुर डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन ने लिया बड़ा फैसला, पढ़िए पदनाम पर क्या हुआ

नवंबर में आशीष की शादी हुई थी। सुबह 8 बजे तक पड़ोसियों ने देखा। इसके बाद किसी ने नहीं देखा।

 ये खबर भी पढ़ें : International Day Of The Girl Child 2023: छत्तीसगढ़ में नोनी जोहार पर जुट रहीं फिल्मी हस्तियां, पढ़िए पूरा शेड्यूल

अनीष जब रिसाली स्थित आशीष के घर पर पहुंचा तो उसने बीएसपी के बीआरएम में कार्यरत एक अन्य कर्मचारी प्रवीण (परिवर्तित नाम) को दशहरा मैदान से साथ लिया, तब तक अभिषेक भी पहुंच गए। पुलिस को जानकारी दी गई।

ये खबर भी पढ़ें : BMS का भंडाफोड़: BSP CPF ट्रस्ट का पद बिका 2 लाख में!, चन्ना केशवलू, हरिशंकर और वशिष्ठ का नाम पुलिस से कोर्ट तक