Suchnaji

BSP में 1 जुलाई से बायोमेट्रिक से हाजिरी अनिवार्य करने पर भड़का BMS, लिया यह फैसला

BSP में 1 जुलाई से बायोमेट्रिक से हाजिरी अनिवार्य करने पर भड़का BMS, लिया यह फैसला
  • बीएमएस ने कहा-फ़ेस आई डी अटेंडेंट पर तत्काल रोक लगाए प्रबंधन। तुग़लक़ी सूचना जारी करने पर कर्मचारियों में भारी आक्रोश।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट(Bhilai Steel plant) के कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए 1 जुलाई से बायोमेट्रिक से हाजिरी अनिवार्य कर दिया गया है। इसको लेकर भिलाई इस्पात मज़दूर संघ-बीएमएस (Bhilai Steel Mazdoor Sangh) भड़का हुआ है।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 Pension: 1000 में जिंदगी गुजारने वाले पेंशनर्स मांग रहे 10 हजार, मोदी को हर महीने चिट्ठी लिखेंगे पेंशनभोगी

AD DESCRIPTION

भिलाई इस्पात मज़दूर संघ कार्यालय सेक्टर 6 (Bhilai Steel Mazdoor Sangh Office Sector 6) में सम्पन्न हुई। अधूरे वेतन समझौता को पूरा करने और केन्द्रीय एवं स्थानीय मुद्दे पर गंभीर चर्चा हुई। अधूरा वेतन समझौता पूर्ण करवाने एवं एचएसएलटी कर्मचारियों की मांगों के निराकरण करने एवं ठेका श्रमिकों की मांगों को लेकर चर्चा हुई। लगातार कर्मचारियों की भावनाओं से उच्च प्रबंधन को अवगत कराया गया है। सदस्यों द्वारा अपने -अपने विभागों की कर्मचारियों से संबंधित समस्याएं बताई गई, जिसे यूनियन द्वारा उच्च प्रबंधन के समक्ष प्रस्तुत कर समाधान करवाया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : Employees Provident Fund Organization: पेंशन आंदोलन पर ताज़ा खबर, पीएमओ पहुंचने की तैयारी

यूनियन का कहना है कि फ़ेस रींडिग अंटेडेंस (Face Reading Attendance) की सूचना जारी करना बिना श्रमिक संगठनों से चर्चा एवं बिना सहमति से जारी करना प्रबंधन का तुग़लक़ी फ़रमान हिटलर शाही रवैया का भिलाई इस्पात मज़दूर संघ पुरज़ोर विरोध करता है। इस पर तत्काल रोक लगाने की आवश्यकता है। 15 वर्ष से सेवा का चुनाव नहीं हुआ। प्रबंधन चुनाव पहले करवाए। भिलाई इस्पात मज़दूर संघ की आगामी कार्य योजना की जानकारी दी गई।

ये खबर भी पढ़ें : Bokaro Steel Plant के 3 अधिकारियों का ट्रांसफर, 1 जीएम को मिला अतिरिक्त पदभार

ट्रकों एवं ट्रेक्टर ट्रॉली के लिए अलग से गेट बनाया जाए। टाउनशिप में आवास के मेंटेनेंस टार फेंल्टिंग एवं सेक्टर 9अस्पताल में दवाओं की कमी को पूरा करने कर्मचारियों से संबंधित विषय उठाया गया। सदस्यों द्वारा मकानों की मेंटेनेंस करवाने की कार्य प्रणाली विकसित करने की मांग की गई। साथ ही टाउनशिप को अवैध कब्जा मुक्त बनाने हेतु यूनियन लगातार प्रयास जारी रखेगी। पदाधिकारियों द्वारा जानकारी दी गई कि बोरिया गेट एवं मेनगेट पर अव्यवस्थित ट्रक खड़े होने से कर्मचारियों को ड्यूटी आने जाने के समय गेट के अंदर आने-जाने में बहुत परेशानी होती है और दुर्घटना का भी डर बना रहता है। लगातार दुर्घटना भी हो रही है।

ये खबर भी पढ़ें : हेमा मालिनी लोकसभा के अंदर-बाहर पेंशन की करती रहीं बात, सरकार को नहीं आई रास

बैठक में यूनियन के महामंत्री चन्ना केशवलू, संयुक्त महामंत्री वशिष्ठ वर्मा, प्रदीप कुमार पाल, जोगेंद्र कुमार, भूपेन्द्र बंजारे, राजनारायन सिंह, गौरव कुमार, उपाध्यक्ष सन्नी ईप्पन, डिल्ली राव, मृगेंद्र कुमार, अनिल गजभिये, जगजीत सिंह, सचिव ए वेंकट रमैया, संजय कुमार साकुरे, अरविंद सिंह, राकेश उपाध्यक्ष, पूरन लाल साहू, अखिलेश उपाध्याय, प्रभाकर होतरी, घनशयाम साहू, सुधीर गडेवाल, अशोक कुमार, प्रकाश अग्रवाल, गंगाराम चौबे, नागराजू, राजेंद्र सिंह ठाकुर, सुबोधित सरदार, भागीरथी चन्द्राकर, संदीप कुमार पाण्डेय, संतोष सिंह, राजीव सिंह नरोत्तम बारले, संतोष पराशर, रामकुमार साहू, प्रशांत सीरसागर उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें : जो मकान BSP अधिकारी नहीं ले रहे कर्मचारियों को करें आवंटित, टाउनशिप के चौक चौराहों पर लगाएं CCTV कैमरा