Suchnaji

EPFO एक्सेस से लगती है झंझट, पर आपका पैसा सिक्योर, असंभव है फ्रॉड

EPFO एक्सेस से लगती है झंझट, पर आपका पैसा सिक्योर, असंभव है फ्रॉड
  • EPFO में एक्सेस प्रोसेस क्यों है इतना पेचीदा, किस लिए कई लेयर में कराए जाते है फॉर्मेलिटीज, जानें बड़ी बात।
  • EFPO चाहता है कि पूरी तरह से सिक्योरिटी रहे। कोई भी किसी भी तरह से आपका पैसा न निकाल ले। किसी भी तरह से आपके साथ फ्रॉड न हो।

सूचनाजी न्यूज, छत्तीसगढ़। EPFO के मेंबर्स, पेंशनर्स और भावी शामिल होने वाले सदस्यों के लिए कई स्कीम चलाई जाती है। इसमें हरेक पहलुओं को बराबर ध्यान रखकर इसे लागू किया गया है। लेकिन इसमें कई प्रक्रिया काफी पेचीदा है, जिससे सदस्यों को इसमें लॉगिन करने से लेकर एक्सेस करने में खासी दिक्कतें होती है। आइए इस लंबे-चौड़े प्रोसेस लेवल और एक्सेस प्रोसेस के बारे में @Suchnaji.com News आपको बताने जा रहा है।

EPFO के लाइव सेशन में आरके.याज्ञ्येक ने सुझाव देते हुए कहा कि नियोक्ता कई बार त्रुटिवश EPF को गलत जानकारी देता है। लेकिन इसको कर्मचारी को ही भोगना पड़ता है। ऐसे असहनीय और पीड़ादायक प्रकरणों के संबंध में कर्मचारी को डिटेल सुधारने की पूरी सुविधा होनी चाहिए।

AD DESCRIPTION

इसका जवाब PF के रीजनल कमिश्नर-1 (WPS) रामन धनशेखर ने दिया। उन्होंने एक उदाहरण देते हुए कहा कि एक कंपनी ने शायद दो या तीन कंपनी का एक ही कंसल्टेंट द्वारा, एक ही कंसल्टेंट को हायर किया गया। कंसल्टेंट ने एक कंपनी के कर्मचारी को दूसरे कंपनी में जोड़ दिया गया।

ये खबर भी पढ़ें : ईपीएस 95 पेंशन: NDA सरकार, 7500 रुपये मासिक पेंशनडीएचिकित्सा लाभ पर बड़ी खबर

‘डिजिटल पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन एक्ट’

इसे करेक्ट करना मतलब आपकी पर्सनल जानकारी में छेड़छाड़ होता है। उन्होंने आगे कहा कि यह पूरी तरह से आपका पर्सनल डेटा है। यह बड़ा संवेदनशील होता है। इसके लिए ही भारत सरकार ने बीते दिनों ‘डिजिटल पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन एक्ट’ को नोटिफाई किया है।

आपका डेटा बहुत महत्वपूर्ण है। काफी सेंसिटिव है। आपको इसे एकदम सिक्योर रखना चाहिए। मान लीजिए आपके डेटा को एकत्रित कर आपके बिहाफ में कोई ऑनलाइन अप्लाई करता है तो यह गलत है लेकिन भारी रिस्क भी रहता है इसमें। EFPO चाहता है कि पूरी तरह से सिक्योरिटी रहे। कोई भी किसी भी तरह से आपका पैसा न निकाल ले। किसी भी तरह से आपके साथ फ्रॉड न हो।

ये खबर भी पढ़ें : EPFO: विदेश में नौकरी करने से पहले ये जान लेंनहीं तो होगा लंबा चौड़ा नुकसान और पड़ सकते है मुसीबतों में

कांट्रीब्यूशन भी एक एंप्लॉयर के माध्यम से ही आता है

यह आपकी मेहनत और आपकी जमापूंजी है। कुल मिलाकर कर्मचारी को यह संशोधन करने का अधिकार दे दिया जाएगा तो कर्मचारी से कोई भी बैंक आदि डिटेल लेकर उसका पैसा निकाल सकता है। इसलिए हमने वेरिफिकेशन का एक लेवल रखा है। हमारे लेवल में एंप्लॉयर है, क्योंकि हम आपको एंप्लॉयर के माध्यम से ही जानते है। आपका कांट्रीब्यूशन भी एक एंप्लॉयर के माध्यम से ही आता है।

जैसे किसी ज्वेलरी शॉप में कम से कम चार लॉक या फिर चार लेयर में लॉक्स होते है। क्योंकि ज्वेलरी शॉप में रखा माल काफी मूल्यवान होता है। इसलिए हमारे लिए आपकी डिटेल, आपका डेटा और आपकी गोपनीयता काफी जरूरी है। बहुत मूल्यवान है।

ये खबर भी पढ़ें :EPFO BIG NEWS: रिटायरमेंट के दिन ही आपको मिल सकती है पेंशनजानें आपके काम की खबर

इसी वजह से हम कई लेवल पर प्रोसेस एक्सेस करवाते है। ताकि आपका हर आंकड़ा, आपकी हरेक जानकारी सिक्योर रखी जाए। उसे पूरी तरह से हम सिक्योरिटी प्रदान कर सकें। इसमें कोई अनौचित ढंग से सेंधमारी बिल्कुल भी न कर पाएं।