Suchnaji

SAIL NJCS मीटिंग की बदली तारीख, अब 19 मार्च को दिल्ली में जुटेंगे श्रमिक नेता-अफसर

SAIL NJCS मीटिंग की बदली तारीख, अब 19 मार्च को दिल्ली में जुटेंगे श्रमिक नेता-अफसर
  • इंटक, सीटू, एटक, एचएमएस ने संयुक्त रूप से सेल में हड़ताल का नोटिस दिया था। केंद्रीय श्रमायुक्त के यहां सेल प्रबंधन और यूनियन प्रतिनिधियों के बीच वार्ता हुई थी।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल (Steel Authority of India Limited-SAIL) के कर्मचारियों के वेज रिवीजन और बकाया भुगतान आदि को लेकर बड़ी खबर है। नेशनल ज्वाइंट कमेटी फार स्टील इंडस्ट्री-एनजेसीएस की बैठक 11 मार्च को होनी थी, जिसे स्थगित कर दिया गया है। अब 19 मार्च को दिल्ली में बैठक होगी। सेल प्रबंधन और एनजेसीएस यूनियन सदस्यों का जमावड़ा होगा।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : Bokaro Steel Plant: 39 माह का बकाया एरियर जब तक नहीं, तब तक बायोमैट्रिक अटेंडेंस मंजूर नहीं

सेल कारपोरेट आफिस के सीजीएम (कार्मिक) एमआर रथ की ओर से इसकी पुष्टि कर दी गई है। सीजीएम की ओर से एनजेसीएस सदस्यों को जारी संदेश में कहा गया है कि अपरिहार्य परिस्थितियों के कारण बैठक की तारीख बदली जा रही है। 2017 के वेतन संशोधन के लिए हुए एमओयू आदि विषय को लेकर एनजेसीएस की बैठक 11.3.2024 के बजाय अब 19.3.2024 को सुबह 11.00 बजे नई दिल्ली में होगी।

एनजेसीएस नेताओं का कहना है कि बीएमएस के उद्योग प्रभारी डीके पांडेय की पत्नी का निधन हो गया है। हर कोई शोक में है। दशगात्र आदि कार्यक्रम की वजह से 11 मार्च की बैठक में वह शामिल नहीं हो पाते। इसलिए प्रबंधन ने तारीख को बढ़ाई है।

ये खबर भी पढ़ें : अंतर्राष्ट्रीय साइकिलिस्ट सि‍तारा स्वस्ति सिंह को राउरकेला स्टील प्लांट के DIC ने किया सम्मानित

1 जनवरी 2017 से उलझा है मामला

बता दें कि 1 जनवरी 2017 से सेल कर्मचारियों का वेतन समझौता अधूरा है। एमओयू साइन होने के बाद भी आज तक इसे पूरा नहीं किया जा सका है। यहां तक कर्मचारियों को 39 माह का बकाया एरियर भी नहीं मिल सका है। इसकी रकम को लेकर सेल कर्मचारी भड़के हुए हैं।

 ये खबर भी पढ़ें : EPFO से बड़ी खबर: पेंशन अदालत में दनादन मामले हल, ग्रेच्युटी का भी मिला पैसा

हड़ताल का नोटिस तक दे चुके

इंटक, सीटू, एटक, एचएमएस ने संयुक्त रूप से सेल में हड़ताल का नोटिस दिया था। केंद्रीय श्रमायुक्त के यहां सेल प्रबंधन और यूनियन प्रतिनिधियों के बीच वार्ता हुई थी।

ये खबर भी पढ़ें : आदिवासियों ने रावघाट माइंस प्रोजेक्ट के लिए Bhilai Steel Plant को दी जमीन, बदले में मिला जॉब ऑफर का लेटर

प्रबंधन की तरफ से कहा गया था कि मामला हल किया जाएगा। इसके बाद ढाई का माह समय दिया गया था। इस आश्वासन के बाद यूनियनों ने 29-30 जनवरी को प्रस्तावित हड़ताल को वापस ले लिया था। इसके बाद यूनियनों ने प्रबंधन को चेतावनी पत्र दिया था कि अगर, ढाई माह के भीतर मामले हल नहीं किए गए तो हड़ताल पर कर्मचारी जाएंगे।

इसी को लेकर प्रबंधन ने वार्ता के लिए 11 मार्च को सुबह 11 बजे से बैठक बुलाई थी, जिसकी अब तारीख बदल दी गई है।

ये खबर भी पढ़ें : Lok Sabha Elections 2024: आप भी आइए और  EVM कीजिए चेक, सवालों का मिलेगा जवाब