Suchnaji

Bhilai Steel Plant के कर्मचारी को गिरफ्तार कर CBI कर रही पूछताछ, BSP करेगा सस्पेंड

Bhilai Steel Plant के कर्मचारी को गिरफ्तार कर CBI कर रही पूछताछ, BSP करेगा सस्पेंड
  • आवास आवंटित कराने के लिए 5 हजार रुपए रिश्वत लेने का आरोप बीएसपी के जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर शमसुज्जमा पर लगाया गया है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट (Bhilai STeel Plant) के जूनियर हेल्थ आफिसर (Junior Health Officer) को रंगे हाथ रिश्वत लेते हुए सीबीआई ने दबोचा। अब पूछताछ के बाद जेल भेज दिया जाएगा। साथ ही भिलाई स्टील प्लांट ने भी बड़े एक्शन की तैयारी कर ली है। जेल जाते ही कर्मचारी को सस्पेंड कर दिया जाएगा। आरोपित कर्मचारी पर गाज गिरनी तय है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : रामभद्राचार्य महाराज को देखिए और कथा सुनिए 14 से 23 तक, बीएसपी वर्कर्स यूनियन जुटा तैयारियों में

आवास आवंटित कराने के लिए 5 हजार रुपए रिश्वत लेने का आरोप बीएसपी के जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर शमसुज्जमा पर लगाया गया है। शिकायतकर्ता के आरोप पर सीबीआई की टीम ने जाल बिछाया और कर्मचारी को रंगे हाथ पकड़ लिया।

सेक्टर-2 में लीज के मकान में रहने वाले आरोपित जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर के नाम पर सेक्टर-10 में आवास आवंटित होने की चर्चा है। इसकी आधिकारिक पुष्टि होने का इंतजार है। जबकि परिवार के अन्य सदस्य हुडको में रहते हैं।

ये खबर भी पढ़ें : Maitri Bagh Flower Show Live: फूलों की बगिया में दिल बाग-बाग, देखिए फोटो

आरोपित कर्मचारी के साथ काम कर चुके बीएसपी के एक कर्मचारी ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि शमसुज़्जमा शातिर दिमाग का है। कई लोगों से लाखों रुपए कर्ज ले रखा है।

कर्ज अदा न करने की वजह से लगातार इसके ऊपर दबाव डाला जा रहा था। जैसे-तैसे कुछ लोगों का पैसा लौटाया। अब भी कई लोगों को पैसा फंसा हुआ है।

ये खबर भी पढ़ें : Rourkela Steel Plant के ED Works से यमराज ने की मुलाकात, सेफ्टी पर हुई बात

3 बच्चे, विधवा बहन, बहन के बच्चे, मां आदि का खर्च इस कर्मचारी पर था। अब परिवार पर भी संकट का बादल छा गया है। महज 5 हजार रुपए के लिए कर्मचारी ने अपने जमीर से समझौता किया और सीबीआई के हत्थे चढ़ गया।

 ये खबर भी पढ़ें : सीजी न्यूज: महतारी वंदन योजना में मिलेगा 1000 रुपए, आवेदन 5 फरवरी से, अंतिम तारीख 20 फरवरी, पढ़िए डिटेल

आरोपित कर्मचारी सेक्टर-2 एवेंन्यू सी इस्पात क्लब मार्ग पर आवास में रहता है। वहीं, इस पूरे मामले को लेकर बीएसपी के नगर सेवाएं विभाग से लेकर प्लांट तक चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। इस पूरे मामले पर उच्च प्रबंधन नजर बनाए हुए है। डायरेक्टर इंचार्ज और ईडी खासतौर से नजर रखे हुए हैं।

 ये खबर भी पढ़ें : SAIL BSP कर्मचारियों-अधिकारियों के बच्चों पर धनवर्षा, 25 हजार तक आ रहा खाते में, मम्मी-पापा भी पहुंचे