Suchnaji

Bhilai Steel Plant: सेफ्टी के 8 एजेंडा और SOP पर महामंथन, पढ़िए क्या बोले-उप संचालक

Bhilai Steel Plant: सेफ्टी के 8 एजेंडा और SOP पर महामंथन, पढ़िए क्या बोले-उप संचालक
  • औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग तथा संयंत्र द्वारा विभागीय सुरक्षा अधिकारियों की बैठक आयोजित।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र (Bhilai Steel plant) के सुरक्षा अभियांत्रिकी विभाग (Safety Engineering Department) तथा उप-संचालक (औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा, दुर्ग संभाग, छ.ग.) कार्यालय के संयुक्त तत्वाधान में औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा पर बैठक हुई। भिलाई इस्पात संयंत्र के अंतर्गत संचालित विभिन्न कारखानों के सुरक्षा अधिकारियों की बैठक मानव संसाधन विकास विभाग (Human Resource Development Department) में आयोजित की गयी। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता उप-संचालक (औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा, दुर्ग संभाग) आशुतोष पांडेय के द्वारा की गई।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : Breaking News: भिलाई स्टील प्लांट में सड़क हादसा, मजदूर ICU में भर्ती, देखिए वीडियो

इस अवसर पर आशुतोष पांडेय के साथ मुख्य महाप्रबंधक (सुरक्षा एवं अग्निशमन) प्रवीण रॉय भल्ला, मुख्य अग्निशमन अधिकारी (अग्निशमन) बीके महापात्रा तथा महाप्रबंधक (सुरक्षा अभियांत्रिकी विभाग) तुलसीदासन मंचासीन थे।

आशुतोष पांडेय ने अपने सारगर्भित उद्बोधन में कहा, कि संयंत्र में कुल 43 कारखानें हैं, जिनमें से कुछ जोखिमपूर्ण कार्यस्थलों की श्रेणी में आते हैं। इसलिए, इस बैठक का मुख्य उद्देश्य भिलाई इस्पात संयंत्र की सुरक्षा व्यवस्था को श्रमिकों के लिए बेहतर बनाना तथा वर्तमान सुरक्षा प्रणाली की समीक्षा करना है।

ये खबर भी पढ़ें : भिलाई स्टील प्लांट के इन कर्मचारियों को मिला कर्म शिरोमणि अवॉर्ड

उन्होंने सभी विभागीय सुरक्षा अधिकारियों से विभाग में लागू एवं संचालित सुरक्षा व्यवस्था का जायजा भी लिया गया। साथ ही उपस्थित सभी अतिथियों ने भी विभागीय सुरक्षा अधिकारियों से अपने विचार साझा किए।

स्वागत उद्बोधन प्रवीण रॉय भल्ला के द्वारा दिया गया। वरिष्ठ प्रबंधक (सुरक्षा अभियांत्रिकी विभाग) अजय टालू ने बैठक में उपस्थित लोगों को सुरक्षा की शपथ दिलाई। महाप्रबंधक (एसएमएस-III) और डीएसओ पुष्पा एम्ब्रोस ने एसएमएस-III में हाल ही का एक नियर मिस केस साझा किया, जिसे सुरक्षा प्रोटोकॉल के सख्त पालन और विभागीय कर्मचारियों के सहयोग से रोका गया था।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL NEWS: 54 रुपए बढ़ी रोज की मजदूरी, पढ़िए अब कितना मिलेगा वेतन

भिलाई इस्पात संयंत्र की ओर से सुरक्षा सम्बन्धी आवश्यक कार्यवाही हेतु, उक्त बैठक में निर्धारित आठ सूत्रीय एजेंडा पर चर्चा की गई। इस बैठक में, नियोजित श्रमिकों के कार्य के दौरान अपनाए गए सुरक्षा उपायों एवं जोखिमपूर्ण कार्यस्थलों की पहचान व जोखिमों का आकलन इत्यादि के संबंध में चर्चा की गई।

ये खबर भी पढ़ें : Bokaro Steel Plant ने मैन्युफैक्चरिंग कॉम्पिटेटिवनेस 2023-24 के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार जीता

कारखाने के अंतर्गत सुरक्षा अधिकारियों की सक्रिय भूमिका, उनकी निहित जिम्मेदारीयों, सुरक्षा अधिकारियों की मेंटेनेंस संबंधी समस्त कार्यों की जानकारियां एवं उन कार्यों को सुरक्षापूर्वक तरीके से निष्पादित किये जाने के संबंध में बात की गई।

कारखाने के अंतर्गत, सेफ्टी वर्क प्रोटोकॉल/SOP के पालन के संबंध में, मेंटनेंस सुपरवाइजर एवं सक्षम जिम्मेदार अधिकारी,अधिकारियों को सुरक्षा के संबंध में पर्याप्त रूप से सुरक्षा प्रशिक्षण प्रदान करने के विषय पर बातचीत की गई।

ये खबर भी पढ़ें : CG बजट 2024: BSP डिस्ट्रीब्यूशन लाइसेंसी एरिया के घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 4 करोड़ 74 लाख

साथ ही कारखानें के अंतर्गत कार्यरत श्रमिकों की सुरक्षा एवं स्वास्थ्य के लिये जोखिम रहित कार्य-प्रणालियों की व्यवस्था के संबंध में विचार किया गया। नियोजित श्रमिकों को पर्याप्त रुप से सुरक्षा प्रशिक्षण प्रदान किया जाना एवं कार्य के दौरान सक्षम जिम्मेदार अधिकारी,अधिकारियों के पर्यवेक्षण,निगरानी में कार्य के निष्पादन के संबंध में विचार विमर्श किया गया।

उक्त बैठक में कारखाने के अंतर्गत दुर्घटनाओं की रोकथाम हेतु किये जा रहे प्रयासों की समीक्षा पर भी चर्चा की गई। कार्यक्रम का संचालन महाप्रबंधक (सुरक्षा अभियांत्रिकी विभाग) एसके महतो ने किया।