Suchnaji

Big News: छत्तीसगढ़ के नेताओं को मिली X और Y कैटेगिरी सिक्योरिटी, इन लीडर्स को था खतरा

Big News: छत्तीसगढ़ के नेताओं को मिली X और Y कैटेगिरी सिक्योरिटी, इन लीडर्स को था खतरा

– केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने प्रदेश के 43 नेताओं को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्णय लिया है। सभी 43 नेता बस्‍तर के है
– टॉर्गेट किलिंग के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेताओं ने केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह से सिक्योरिटी बढ़ाने की मांग की गई थी

AD DESCRIPTION

सूचनाजी न्यूज, रायपुर। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ के नेताओं की सुरक्षा को बढ़ा दिया है। प्रदेश के नेताओं को एक्स और वाय श्रेणी की सुरक्षा प्रदान करने का आदेश जारी कर दिया गया है।
केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने प्रदेश के 43 नेताओं को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्णय लिया है। सभी 43 नेता बस्‍तर के है। टॉर्गेट किलिंग के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेताओं ने केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह से सिक्योरिटी बढ़ाने की मांग की गई थी।
हम आपको बता दें कि इसी महीने की शुरुआत में नक्सलवादियों ने दक्षिण बीजापुर के BJP के दो लीडर्स तो मौत के घाट उतार दिया गया था। इसके बाद संवेदनशील इलाके के BJP नेता सिक्योरिटी को लेकर काफी चिंतित थे।
दूसरी ओर बस्तर पुलिस द्वारा भी BJP नेताओं की सुरक्षा की समीक्षा की जा रही है। पुलिस ने BJP के जिला अध्यक्षों से ऐसे लीडर्स के नामों की सूची मांगी, जिनकी सिक्योरिटी नक्सलवादियों से खतरा हैं। पुलिस तमाम सूचनाओं, खुफिया रिपोर्ट्स के आधार पर भी नेताओं के सिक्योरिटी का आंकलन करती रही।
इन आंकलनों, सूचनाओं और नेताओं की मांगों के आधार पर कुछ नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बीजापुर जिले के BJP लीडर तिरुपति कटला और कैलाश नाग को बीते हफ्ते नक्सलवादियों ने मौत के घाट उतार दिया था।
डरे हुए है BJP नेता
बस्तर के अंदरुनी इलाकों में रहने वाले भाजपा नेता काफी डरे हुए है। सूत्रों की मानें तो कई नेता रात में घर छोडकर छिपकर रहते है और कुछ पार्टी सदस्य तो आंध्रप्रदेश या फिर तेलंगाना पलायन कर गए है। वे खुद भी कई माह से रात में घर नहीं पहुंचते।
मिली जानकारी के अनुसार बीजापुर से एक प्रतिनिधि मण्डल बीते दिनों दिल्ली पहुंचकर केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह से जिले के 09 BJP नेताओं की सिक्योरिटी बढाने की मांग की गई थी।
बीजापुर BJP जिला उपाध्यक्ष लवकुमार रायडु ने रायपुर पहुंचकर गृहमंत्री विजय शर्मा को सिक्योरिटी बढ़ाने पत्र सौंपा था। उन्होंने बताया कि विधानसभा चुनाव के दौरान कई लीडर्स को दी गई सिक्योरिटी चुनाव के बाद हटा दी गई थी। इससे नक्सल इलाके के वे नेता जिन्हें सिक्योरिटी मिली थी, नक्सलवादियों के निशाने पर आ गए है।

– इन नेताओं को मिली सुरक्षा 

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने प्रदेश के 43 नेताओं को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्णय लिया है। सभी 43 नेता बस्‍तर के है।
– बस्‍तर के इन 43 नेताओं को मिली सुरक्षा