Suchnaji

Bokaro Steel Plant ने जेसीबी से रौंद डाली आधा दर्जन कार, अस्पताल पर भी एक्शन

Bokaro Steel Plant ने जेसीबी से रौंद डाली आधा दर्जन कार, अस्पताल पर भी एक्शन
  • अस्पताल के बगल में कार वाशिंग सेंटर भी खोल दिया गया। बकायदा अवैध कनेक्शन लेकर यहां वाटर टैंक बना लिया गया। इस पर भी एक्शन लिया गया।

सूचनाजी न्यूज, बोकारो। सेल (SAIL) के भिलाई स्टील प्लांट (Bhilai Steel Plant) के साथ के साथ बोकारो स्टील प्लांट (Bokaro Steel Plant) ने भी कब्जेदारों के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। सोमवार को बीएसएल प्रबंधन (BSL Management) ने सिटी सेंटर में बड़ी कार्रवाई की। कार गैरेज संचालक ने पार्क को कब्जा करके धंधा शुरू कर दिया था। इस पर एक्शन हो गया है। देखते ही देखते कई कार को जेसीबी से तोड़ दिया गया है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : BSP ने सेक्टर 2, स्टेशन मरौदा में कब्जेदारों को थमाया नोटिस, खाली नहीं किया आवास तो सामान होगा जब्त

कई बार समझाने के बाद जब असर नहीं हुआ था तो टीम ने कबाड़ में पड़ी आधा दर्जन कार को जेसीबी से रौंद दिया। इसी तरह शिवम हॉस्पिटल के अतिक्रमण को भी तोड़ा गया है। मरीजों को देखते हुए शेष कार्रवाई को रोक दिया गया है। खुद से अतिक्रमण न हटाने पर दोबारा कार्रवाई की जाएगी।
पिछले दिनों सेल चेयरमैन और डायरेक्टर बीएसएल के दौरे थे। उच्चाधिकारियों ने शहर के बीच में इस तरह के अवैध कब्जे पर सवाल उठाया था। संबंधित विभाग ने पहले नोटिस दिया। कई बार समझाया। लेकिन, गैरेज संचालक सुनने को तैयार नहीं था।

ये खबर भी पढ़ें : बोकारो स्टील प्लांट के 4एफ सेक्टर की सुरक्षा पर बड़ा फैसला, चोरों ने कर रखा है नाक में दम

इसलिए बीएसएल (BSL) की टीम ने जीएम एके सिंह व डीजीएम सिक्योरिटी आरएस शेखावत के नेतृत्व में कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान भीड़ होती गई। पुलिस बल ने भीड़ को तितर-बितर किया। किसी तरह का बवाल न होने पाए, इसको रोकने के लिए फोर्स मुस्तैद रही।

ये खबर भी पढ़ें : Bokaro Steel Plant: अफसरों की पत्नियों ने गांव में डाला डेरा, महिलाओं को दी सिलाई मशीन

वहीं, अस्पताल के बगल में कार वाशिंग सेंटर भी खोल दिया गया। बकायदा अवैध कनेक्शन लेकर यहां वाटर टैंक बना लिया गया। इस पर भी एक्शन लिया गया। इसके समीप ही एक अन्य सेंटर है। इसको लेकर हटाया जाएगा। जल्द ही दोबारा बीएसएल की टीम मैदार में उतरने वाली है। शेष बचे कब्जेदारों को बेदखल किया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : Bokaro Steel Plant ने दिया साथ, इस्कॉन ने तैयार किया बेस किचन, एनीमिया-कुपोषण होगा दूर