Suchnaji

Breaking News: भिलाई स्टील प्लांट के जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर को CBI ने रंगे हाथ पकड़ा

Breaking News:  भिलाई स्टील प्लांट के जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर को CBI ने रंगे हाथ पकड़ा
  • आवास आवंटन के नाम पर 5000 हजार रुपए लेने का आरोप। सीबीआई की टीम आरोपित को ले गई रायपुर।

अज़मत अली, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल (Steel Authority of India Limited-SAIL) का भिलाई स्टील प्लांट (Bhilai Steel Plant) सीबीआई के राडार पर आ गया है। पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट का जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर 5000 रुपए रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया है। सीबीआई की टीम ने रंगे हाथ पकड़ा है। 10 सदस्यीय टीम बीएसपी कर्मचारी को रायपुर लेकर रवाना हो गई है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : रामभद्राचार्य महाराज को देखिए और कथा सुनिए 14 से 23 तक, बीएसपी वर्कर्स यूनियन जुटा तैयारियों में

बताया जा रहा है कि बीएसपी के दो कर्मचारियों ने आवास आवंटन के नाम पर पैसे की वसूली की शिकायत की थी। शिकायत को संज्ञान में लेकर सीबीआई की टीम ने छापेमारी की और जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर शमसुज्ज़ा को गिरफ्तार कर लिया है। सीबीआई की टीम टीए बिल्डिंग भी पहुंची थी। यहां संबंधित विभाग के उच्चाधिकारियों से विस्तृत जानकारी लेने के बाद बताया कि आरोपित कर्मचारी को उन्होंने 5 हजार रुपए लेने के आरोप में रंगे हाथ पकड़ा है।

 ये खबर भी पढ़ें : सीजी न्यूज: महतारी वंदन योजना में मिलेगा 1000 रुपए, आवेदन 5 फरवरी से, अंतिम तारीख 20 फरवरी, पढ़िए डिटेल

पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट (Public Health Department) में तैनात शमसुज़्जमा सेक्टर 2 में लीज के आवास में रहता है। बताया जा रहा है कि कर्ज आदि को लेकर वह काफी तनाव में था। मौके का फायदा पाकर वसूली का खेल शुरू कर दिया था। एक पूर्व ही ट्रेनिंग के लिए इंफोसर्टमेंट डिपार्टमेंट भेजा गया था, जहां वसूली का खेल इसने शुरू कर दिया था। 49 साल कर्मचारी विकलांग कोटा से 2012 में बीएसपी से जुड़ा।

 ये खबर भी पढ़ें : SAIL BSP कर्मचारियों-अधिकारियों के बच्चों पर धनवर्षा, 25 हजार तक आ रहा खाते में, मम्मी-पापा भी पहुंचे

बता दें कि भिलाई स्टील प्लांट का इंफोर्समेंट डिपार्टमेंट लगातार कब्जेदारों के खिलाफ अभियान चला रहा है। करोड़ों रुपए के बकायदारों को भी नहीं छोड़ा गया है। लगातार एक्शन में रहने वाले विभाग में ट्रेनिंग के लिए आए पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट के जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर ने वसूली का खेल शुरू कर दिया और पकड़ा गया।