Suchnaji

CG News: 4 फरवरी तक होगी समर्थन मूल्य और लिंकिंग पर धान खरीदी, शनिवार, रविवार को भी धान खरीदी

CG News: 4 फरवरी तक होगी समर्थन मूल्य और लिंकिंग पर धान खरीदी, शनिवार, रविवार को भी धान खरीदी
  • राज्य के किसान प्रतिनिधियों एवं किसान संगठनों ने मुख्यमंत्री के इस फैसले का स्वागत किया है।

सूचनाजी न्यूज, रायपुर। राज्य के किसानों के हित में मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय (Chief Minister Vishnudev Sai) ने एक बड़ा फैसला लेते हुए समर्थन मूल्य पर नगद और लिंकिंग के आधार पर धान खरीदी अब 4 फरवरी रविवार तक की जाएगी। मुख्यमंत्री ने राज्य में रिकार्ड धान खरीदी के बावजूद किसानों को धान बेचने में किसी तरह की परेशानी न हो इसको ध्यान में रखते हुए यह संवेदनशील निर्णय लिया है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : SAIL NJCS सब-कमेटी के मीटिंग की तारीख आई, इस पर फैसला

ज्ञातव्य है कि खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की अंतिम तिथि 31 जनवरी निर्धारित है। मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने धान बेचने से शेष रह गये किसान भी आसानी से अपना धान सोसायटी के धान उपार्जन केन्द्रों में बेच सकें, इसको ध्यान में रखते हुए समर्थन मूल्य पर नगद और लिंकिंग के आधार पर धान खरीदी 4 फरवरी तक किए जाने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए हैं।

ये खबर भी पढ़ें : कांग्रेसी विधायक देवेंद्र यादव की हत्या की निकली सुपारी, पढ़िए डिटेल

मुख्यमंत्री ने राज्य में शनिवार 03 फरवरी एवं रविवार 04 फरवरी को भी उपार्जन केन्द्रों में धान की खरीदी सामान्य दिनों की तरह करने को कहा है।
यहां यह उल्लेखनीय है ऐसा पहली बार होगा कि 03 फरवरी शनिवार और 04 फरवरी रविवार को भी किसान उपार्जन केन्द्रों में अपना धान बेच सकेंगे।

ये खबर भी पढ़ें : Exclusive News: गौतम अडानी ने अधिकारियों को 100 ग्राम, 75 ग्राम, 25 ग्राम दिया सोने का सिक्का, कर्मचारियों को चांदी का

राज्य के किसान प्रतिनिधियों एवं किसान संगठनों ने मुख्यमंत्री के इस फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि किसानों के हित में मुख्यमंत्री श्री साय का यह संवेदनशील निर्णय से किसान उत्साहित हैं।

ये खबर भी पढ़ें : एयरपोर्ट की तर्ज पर Bhilai Steel Plant की सिक्योरिटी, CISF की DG के हाथों इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का उद्घाटन

खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में राज्य में 31 जनवरी तक 142.23 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी हो चुकी है। धान खरीदी के एवज में उन्हें 29 हजार 318 करोड़ रूपए से अधिक का भुगतान भी किया जा चुका है।

ये खबर भी पढ़ें : पेंशन की ताजा खबर: पेंशनर्स आइटी रिटर्न नहीं करते दाखिल, परिवार औसत आय का 10 गुना पाने से वंचित