Suchnaji

क्राइम न्यूज: भिलाई नगर निगम की महिला सफाई कामगार से शारीरिक शोषण, आरोपितों की गिरफ्तारी तक नहीं

क्राइम न्यूज: भिलाई नगर निगम की महिला सफाई कामगार से शारीरिक शोषण, आरोपितों की गिरफ्तारी तक नहीं
  • यूनियन ने कहा कि लगातार इस प्रकार के अभद्र व्यवहार एवं भाषा की शिकायत कामगारों द्वारा मिलती रही है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई नगर निगम (Bhilai Municipal Corporation) की महिला सफाई कामगार के शारीरिक शोषण का मामला सामने आया है। आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने से मामला तूल पकड़ रहा है। नामजद रिपोर्ट दर्ज होने के बाद भी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने जैन यूनिटी क्रिकेट लीग सीजन-3 में बल्लेबाजी में आजमाया हाथ

नगरीय निकाय जनवादी सफ़ाई कामगार यूनियन (Municipal Body People’s Safai Workers Union) के जय प्रकाश नायर का कहना है कि भिलाई नगर निगम में ठेका सफ़ाई महिला कामगारों के साथ किए गए शारीरिक शोषण में नामजद आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए।

ये खबर भी पढ़ें : आपका  Fastag होने जा रहे ब्लैक लिस्ट, अब ‘एक वाहन एक फास्टैग’

यूनियन को जानकारी प्राप्त होने पर महिला कामगारों का प्रतिनिधि मंडल जामुल थाने में जाकर चर्चा कर दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग कर चुका है। पीड़ित महिलाओं के घर जाकर भी चर्चा की गई है।

यूनियन ने कहा कि लगातार इस प्रकार के अभद्र व्यवहार एवं भाषा की शिकायत कामगारों द्वारा मिलती रही है। इसके विरोध में बोलने पर काम से बैठाने की धमकी दी जाती है, जिसके कारण कामगार चुप रहकर अपने ऊपर होने वाले शोषण को सहते हुए काम करते हैं।

ये खबर भी पढ़ें : मकर महोत्सव 2024: SAIL Rourkela Steel Plant ने जमाया रंग, हर कोई मगन, देखिए फोटो

अपने ऊपर होने वाले अत्याचार को ठेका एजेंसी के अधिकृत व्यक्ति के पास बताने पर भी कोई कार्यवाही दोषी पर नहीं होता। इसके उलट शिकायत करने वाले कामगारों को ही एजेंसी द्वारा डरा-धमका कर भगा दिया जाता है।

ये सारे कामगार समाज के निचले तबके दलित और आदिवासी समुदाय से आते हैं। जो अपने परिवार को पालने सफ़ाई के काम में आते हैं। यूनियन ने  स्पष्ट कहा है कि पीड़ित पक्ष द्वारा पुलिस थाने में शिकायत की जा चुकी है।

ये खबर भी पढ़ें : BSP Safety Drawing-Painting Competition संडे मार्निंग, बच्चों को लेकर सेक्टर 8 पार्क आइए

यूनियन मांग करती है कि  दोषियों को तत्काल गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

जय प्रकाश नायर का कहना है कि एक तरफ राज्य एवं केंद्र की सरकार महिला सशक्तिकरण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देती है। दूसरी तरफ कामगार महिलाओं की सुरक्षा की गारंटी नहीं कर रही है। गिरफ्तारी न किए जाने की स्थिति में तमाम सफ़ाई कामगार आंदोलन एवं विरोध प्रदर्शन को बाध्य होंगे, जिसका सम्पूर्ण जवाबदेह जिला प्रशासन की होगा।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Township: इस सेक्टर एरिया में 15 से 20 जनवरी तक बिजली सप्लाई रहेगी बंद