Suchnaji

EPS 95 Pension पर फिर बवाल, देशभर के जिलाधिकारी कार्यालय के सामने कल पेंशनर्स करेंगे सत्याग्रह-अनशन

EPS 95 Pension पर फिर बवाल, देशभर के जिलाधिकारी कार्यालय के सामने कल पेंशनर्स करेंगे सत्याग्रह-अनशन

राष्ट्र के 75 लाख वृद्ध पेंशनर्स व करोड़ों EPS सदस्यों को न्याय प्रदान करवाने में सहायक बनने की अपील की गई है।

सूचनाजी न्यूज, छत्तीसगढ़। ईपीएस 95 न्यूनतम पेंशन को लेकर देशभर में आंदोलन चल रहा है। केंद्र की मोदी सरकार पर दबाव बनाने के लिए पेंशनर्स लगातार सड़क की लड़ाई लड़ रहे हैं। ईपीएफओ कार्यालय का घेराव करने के बाद अब जिलाधिकारी के कार्यालय के सामने विरोध-प्रदर्शन का शेड्यूल आ गया है। सोमवार को देशभर में सभी राज्यों के जिला मुख्यालयों पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

AD DESCRIPTION

ईपीएस 95 पेंशन संघर्ष समिति छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष एलएम सिद्दीकी के मुताबिक राजनांदगांव जिले में सोमवार को 3 घंटे का विरोध-प्रदर्शन का कार्यक्रम है। कलेक्टोरेट आफिस के सामने पेंशनर्स जुटेंगे। अपने हक की आवाज बुलंद करेंगे।

बता दें कि EPS 95 NATIONAL AGITATION COMMITTEE के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमांडर अशोक राउत की अपील पर 11 मार्च को देश के सभी जिलाधिकारी कार्यालयों पर सत्याग्रह, अनशन के साथ ज्ञापन सौंपा जाएगा। रैली निकालकर धरना-प्रदर्शन करके पेंशनर्स अपनी भावनाओं का तीव्र प्रदर्शन करेंगे।

EPS सदस्य कर्तव्य और ज़िम्मेदारी को समझें

सभी पेंशनर्स से अपील की गई है कि देशभर में जहां-जहां कार्यक्रम हो रहे हैं वहां पूरी क्षमता और प्रभावशाली ढंग से सहयोग व प्रत्यक्ष रूप से सहभागी बनें। राष्ट्र के 75 लाख वृद्ध पेंशनर्स व करोड़ों EPS सदस्यों को न्याय प्रदान करवाने में सहायक बनने की अपील की गई है। हर NAC पदाधिकारी व EPS सदस्यों में दम भरा गया है कि कर्तव्य और ज़िम्मेदारी को समझें।

राष्ट्रीय संघर्ष समिति (NAC) का आंदोलन

पेंशनर्स का कहना है कि EPS 95 न्यूनतम पेंशन के लिए लगातार आवाज उठाई जा रही है। सरकार और EPFO से मायूसी हाथ लग रही है। निरंतर अन्याय हो रहा है। इसके विरोध में राष्ट्रीय संघर्ष समिति (NAC) आंदोलन कर रहा है। 5 मार्च को राष्ट्रव्यापी आंदोलन दोबारा शुरू किया गया। गली से लेकर दिल्ली तक EPS सदस्य- पेंशनर जागरण अभियान शुरू हो गया है।

तहसील, जिला, मंडल, प्रदेश, क्षेत्रीय, राष्ट्रीय स्तर पर सभाओं के आयोजन के साथ ही EPS सदस्य, EPS पेंशनर जागरण अभियान चल रहा है।

सांसद, मंत्री, अति महत्वपूर्ण महानुभाव तक पहुंच

सांसद, मंत्री, अति महत्वपूर्ण महानुभावों को आंदोलन की नोटिस सौंपकर अविलंब न्याय प्रदान कर मांगों को मंजूर करवाने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। इसी के तहत पिछले दिनों देश के सभी EPF कार्यालयों पर सत्याग्रह-अनशन के साथ ज्ञापन सौंपा गया है।