Suchnaji

ED से सामना कर रहे विधायक देवेंद्र यादव को अब हाईकोर्ट से नोटिस, प्रेम प्रकाश पांडेय ने खेला दांव

ED से सामना कर रहे विधायक देवेंद्र यादव को अब हाईकोर्ट से नोटिस, प्रेम प्रकाश पांडेय ने खेला दांव
  • प्रेम प्रकाश पांडेय की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता डॉ निर्मल शुक्ला को सुनने के बाद न्यायमूर्ति राकेश मोहन पांडेय की एकल पीठ  ने देवेंद्र यादव को नोटिस जारी किया है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh Assembly Election) में भिलाई नगर सीट (Bhilai Nagar Seat) से प्रेम प्रकाश पांडेय (Prem Prakash Pandey) चुनाव हार गए। लेकिन, वह शांत नहीं बैठे हैं। कांग्रेस के प्रत्याशी देवेंद्र यादव ने लगातार जीत की। बावजूद, मुश्किल बढ़ती जा रही है। ईडी के सवालों से सामना कर रहे देवेंद्र यादव को अब हाईकोर्ट से नोटिस जारी हो गया है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : Maitri Bagh Flower Show Live: फूलों की बगिया में दिल बाग-बाग, देखिए फोटो

छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने दुर्ग संभाग की भिलाई नगर सीट से भारतीय राष्ट्र कांग्रेस के विधायक देवेंद्र यादव को एक चुनाव याचिका के संबंध में बुधवार को नोटिस जारी किया। यह याचिका भाजपा उम्मीदवार एवं पूर्व विधान सभा अध्यक्ष प्रेम प्रकाश पांडेय ने अधिवक्ता शैलेन्द्र शुक्ला के माध्यम से दायर की है।

ये खबर भी पढ़ें : Bokaro Steel Plant: बिजली चोरी पर लगाम लगाओ भाई, घाटे की करो भरपाई

इस याचिका में देवेंद्र यादव के निर्वाचन को हलफनामे में संपत्ति के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी एवं आपराधिक मामले  छिपाने के आधार पर चुनौती दी गई है।

प्रेम प्रकाश पांडेय की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता डॉ निर्मल शुक्ला को सुनने के बाद न्यायमूर्ति राकेश मोहन पांडेय की एकल पीठ  ने देवेंद्र यादव को नोटिस जारी करते हुए इस मामले की अगली सुनवाई की तारीख 20 मार्च तय की।

ये खबर भी पढ़ें : NJCS बैठक से पहले भिलाई में 7 को बड़ा प्रोटेस्ट, सभी यूनियनें एक मंच पर

वकील ने दलील दी कि आपराधिक मामलों और संपत्ति की जानकारी को दबाया जाना जन प्रतिनिधि कानून, 1951 के प्रावधानों का उल्लंघन है जिससे उम्मीदवार का निर्वाचन अवैध हो जाता है।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 Pension News: पेंशनर्स की ये बातें रुला देगी आपको, लेकिन सरकार