Suchnaji

ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की मजार पर चढ़ेगी पीएम मोदी की चादर

ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की मजार पर चढ़ेगी पीएम मोदी की चादर
  • अल्पसंख्यक मंत्री स्मृति ईरानी ने एक्स पर लिखा-हमारा देश विविधता में एकता का उत्सव मनाते हुए आज तेज़ गति से आगे बढ़ रहा है।
  • मुस्लिम समुदाय के एक प्रतिनिधिमंडल से पीएम मोदी की मुलाकात हुई और उन्हें पवित्र चादर भेंट की।

सूचनाजी न्यूज, दिल्ली। अजमेर स्थित हज़रत ख़्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती गरीब नवाज़ के 812वें उर्स के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की तरफ से भी चादरपोशी की जाएगी। पीएम की तरफ से मजार पर चादर चढ़ाई जाएगी। पीएम ने खुद मुस्लिम समाज से आए हुए लोगों को चादर सुपुर्द की।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant के एससी-एसटी कर्मचारियों-अधिकारियों की समस्याओं का खुला पिटारा

अल्पसंख्यक मंत्री स्मृति ईरानी (Minority Minister Smriti Irani) ने एक्स पर लिखा-हमारा देश विविधता में एकता का उत्सव मनाते हुए आज तेज़ गति से आगे बढ़ रहा है। सूफी संतों के आर्शीवाद से देश इसी तरह तरक्की करे और देशवासियों के जीवन में सेहत-सलामती बरकरार रहे।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant के एससी-एसटी कर्मचारियों-अधिकारियों की समस्याओं का खुला पिटारा

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने आवास 7 लोक कल्याण मार्ग पर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास और अल्पसंख्यक कार्य मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी (Union Minister of Women and Child Development and Minority Affairs Smriti Zubin Irani) की उपस्थिति में मुस्लिम समुदाय के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की और उन्हें पवित्र चादर भेंट की। इस चादर को ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के उर्स के दौरान चढ़ाया जाएगा। प्रतिष्ठित अजमेर शरीफ दरगाह एकता, शांति और सूफी परंपराओं के प्रति श्रद्धा का उदाहरण है।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL Foundation Day 2024: तैयार हो जाइए 24 जनवरी को लगानी है 5 किलोमीटर की दौड़, 5 हजार तक का इनाम

प्रधानमंत्री से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में कई जानी-मानी हस्तियां शामिल थीं। इस दौरान जनाब हाजी सैयद सलमान चिश्ती गद्दी नशीन, हाजी सैयद मोहम्मद अशरफ किचौचावई, जनाब फरीद अहमद निजामी, मंजूर उल हक (जावेद कुतुबी), चिश्ती नसीरुद्दीन, कल्बे रुशैद सैयद रिज़वी, मोलवी मोहम्मद नूरानी नकशबंदी, प्यारे जिया खान ऑक्सीजन मैन ऑफ इंडिया, हसीन अघाड़ी, कौसर हसन, प्रोफेसर तारिक मंसूर और जमाल सिद्दीकी की उपस्थिति रही।

ये खबर भी पढ़ें : वित्त वर्ष 2023-24: भिलाई स्टील प्लांट ने 3 तिमाही में उड़ाया प्रोडक्शन रिकॉर्ड का गर्दा