Suchnaji

BSP लीज़धारकों के आवास रजिस्ट्रेशन की रफ्तार हो रही सुस्त, उठे सवाल

BSP लीज़धारकों के आवास रजिस्ट्रेशन की रफ्तार हो रही सुस्त, उठे सवाल

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। 6 माह पूर्व शुरू की गई बीएसपी लीजधारकों (BSP Leaseholders) के आवासों के पंजीयन की प्रक्रिया अब ठंडे बस्ते में जाती दिखाई दे रही है। करीब साढ़े चार हजार लीजधारकों का पंजीयन किया जाना था, लेकिन अभी तक लगभग 1400  लीजधारकों का ही पंजीयन हो पाया है। बीएसपी ने करीब 1700 लोगों को पेपर सौंप दिया है।

AD DESCRIPTION

अब यह रफ्तार धीरे धीरे और सुस्त होते जा रही है। दावा किया जा रहा है कि रजिस्ट्री आफिस में सर्वेर अपडेट किया गया है, जिसकी वजह से देरी हो रही है। वहीं, लीजधारक ईपीएस पेंशन के लिए राशि जमा कर रहे हैं, इसलिए रजिस्ट्री की तरफ रुझान घटा है।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Township: डायरेक्टर बंगला, खुर्सीपार, कैंप-1 और इस सेक्टर में बिजली नहीं आएगी, पढ़िए तारीख

भिलाई स्टील प्लांट (Bhilai Steel Plant) के कर्मचारी बता रहे हैं कि लीजधारकों के पंजीयन को चार कैटेगरी में विभाजित कर पंजीयन के कार्य को अंजाम दिया जा रहा था, जिसमें की प्रथम आवेदक, लीजधारक जो अभी जीवित हैं। द्वितीय सह आवेदक लीजधारक आवेदक की मृत्यु उपरांत, तृतीय आवेदक और सह आवेदक की मृत्यु उपरांत कानूनी वारिसान, चौथा जिन लीजधारकों ने आवास बेच दिया हो, उसमे भी बीएसपी टू बीएसपी के लिए अलग प्रवधान है।

ये खबर भी पढ़ें : Maitribagh Flower Show 2024: फूलों की दुनिया में पानी पर रंगोली, पहली बार बजेगा दुनिया का सबसे बड़ा तंबूरा, आइए 4 फरवरी को

पंजीयन प्रक्रिया के शुरूआती दौर में केवल आवेदक और सह आवेदक के दस्तावेजों के पंजीयन को ही प्राथमिकता दी जा रही थी। और बीएसपी नगर सेवा विभाग द्वारा इस प्रक्रिया को सुचारू रूप से चलाने के लिए मैनपॉवर बढ़ाया गया।

ये खबर भी पढ़ें : पेंशन की ताजा खबर: पेंशनर्स आइटी रिटर्न नहीं करते दाखिल, परिवार औसत आय का 10 गुना पाने से वंचित

कानूनी वारिसान और बीएसपी टू बीएसपी खरीदी बिक्री वाले प्रकरणों का पंजीयन चल रहा है। लीजधारक बराबर नगर सेवा विभाग में संपर्क कर रहे हैं। लेकिन अब पहले जैसा उत्साह लीजधारकों में नहीं दिखाई दे रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : बरौनी-गोंदिया एक्सप्रेस का यूसुफपुर स्टेशन पर अब ठहराव, पटना-सिकंदराबाद स्पेशल चलेगी 29 अप्रैल तक

शाय़द इसलिए भी की कानूनी वारिसान और खरीदी बिक्री वाले मामले थोड़े जटिल हैं और अधिकारी इस से बचने के लिए पल्ला झाड़ रहे हैं। बीएसपी उच्च प्रबंधन को इसे तुरंत संज्ञान में लेते हुए जल्द से जल्द 4500 लीजधारकों के पंजीयन की प्रक्रिया को खत्म करना चाहिए।

ये खबर भी पढ़ें : भिलाई स्टील प्लांट: कोक ओवन के इन कर्मचारियों को मिला शिरोमणि अवॉर्ड

जिन लीजधारकों ने पंजीयन करवाया है, उनका कहना है कि पहले यह टू पार्टी एग्रीमेंट था। अब हम लीजधारकों का पक्ष मजबूत हो गया है। लेकिन हाल फिलहाल में अधिकारिक स्तर पर इस तरह की भ्रांति फैलाई जा रही है कि इसका कोई प्रत्यक्ष लाभ नहीं होने वाला है। और लीज की अवधि पूरी होने पर नवीनीकरण के समय पंजीयन करवाया जा सकता है।

ये खबर भी पढ़ें : NTPC ने शीर्ष नियोक्ता 2024 का दर्जा किया हासिल

यह बात नगर सेवा विभाग में अपने लीज के आवास के पंजीयन के लिए भटक रहे कुछ लीजधारकों ने कहा और उन्होंने आशंका जताई कि उदासीनता के चलते कहीं यह प्रक्रिया रूक ना जाए।

इस संबंध में लीज का पंजीयन करवा चुके लीजधारकों का कहना है कि यह एक अच्छी प्रक्रिया है, जो कि लीजधारकों को कवच प्रदान कर रही है।