Suchnaji

SAIL भिलाई स्टील प्लांट: RFID पर गृह मंत्रालय यानी अमित शाह का आदेश, बायोमेट्रिक भी लगेगा, यहां खींची जाएगी फोटो

SAIL भिलाई स्टील प्लांट: RFID पर गृह मंत्रालय यानी अमित शाह का आदेश, बायोमेट्रिक भी लगेगा, यहां खींची जाएगी फोटो
  • RFID की प्रक्रिया शुरू करने की प्रबंधन ने दी सूचना। सीटू ने लागत और आवश्यकता पर उठाया सवाल।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र (Bhilai Steel Plant) के मुख्य महाप्रबंधक प्रबंधक (कार्मिक) के साथ हिंदुस्तान स्टील एम्प्लाइज यूनियन (Hindustan Steel Employees Union) (सीटू) प्रतिनिधि मंडल की बैठक हुई। बैठक में यूनियन की ओर से जेपी त्रिवेदी, एसएसके पनिक्कर, एसपी डे  सम्मिलित हुए। प्रबंधन की ओर से मुख्य महाप्रबंधक संदीप माथुर के अलावा शीजा मैथ्यू, जेएन. ठाकुर, सूरज कुमार सोनी, विकास चन्द्रा, रोहित हरित शामिल थे।

AD DESCRIPTION R.O. No. 12697/ 111

ये खबर भी पढ़ें : SAIL का प्रोडक्शन 35 MT, BSL का होगा साढ़े 7 MT, प्रति व्यक्ति उत्पादन दर होगा 1000 पार

AD DESCRIPTION R.O. No.12697/ 111

जानिए प्रबंधन ने आखिर क्या जानकारी दी

आरएफआइडी के लिए यहां खींची जाएगी फोटो

गेट से प्रवेश करने और निकलने के समय को दर्ज करने हेतु RFID प्रणाली शीघ्र शुरू होने जा रहा है, जिसके प्रथम चरण में सभी अधिकारियों एवं कर्मियों (स्थाई एवं ठेका कर्मियों) के चेहरे का फोटो खींच कर उनका पंजीयन किया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : Digital Life Certificate: पेंशनभोगियों के लिए बड़ी खबर, सरकार ने दी जानकारी

फोटो खींचने का कार्य ब्लास्ट फर्नेस 1 से 6 के मुख्य वेलफेयर बिल्डिंग, मिल वेलफेयर बिल्डिंग एवं ओएचपी वेलफेयर बिल्डिंग एवं बिल्डिंग नंबर 2 मेकेनिकल में फोटो खींचने का कार्य चलेगा। तपश्चात अन्य स्थानों पर भी फोटो खींचने का कार्य होगा।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL वेतन समझौता, एरियर पर प्रबंधन को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, 8 लाख तक होगा खर्च, चंदा हो रहा इकट्‌ठा

इस कार्य का ठेका Prudent Techniques नामक निजी कंपनी को दिया गया है। इसमें लगभग दो माह का समय लगेगा। प्रबंधन का कहना है कि यह सिर्फ गेट से प्रवेश और निकासी दर्ज करने के लिए यह प्रणाली लगाई जा रही है। इसके अलावा कार्यस्थल पर बायोमेट्रिक अटेंडेंस मशीन लगाया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : कोल इंडिया अंतर कंपनी पॉवरलिफ़्टिंग, वेटलिफ्टिंग, बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता 2023-24: WCL, CIL, MCL, SECL, SCCL, NCL ने जीता अवॉर्ड

यूनियन की ओर से इस संबंध में कर्मियों के असंतोष और उनके विरोध से प्रबंधन को अवगत कराया गया। इसके अलावा प्रबंधन से यह प्रश्न किया गया कि जब ऑनलाइन अटेंडेंस सिस्टम प्रबंधन अपने संसाधनों से लागू कर चुका है एवं यह ठीक-ठाक काम कर रहा है, तब इस प्रणाली की क्या आवश्यकता है। इसमें कितना लागत आएगा। प्रबंधन से व्यक्तिगत विवरण से संबंधित डाटा सुरक्षा के बारे में भी पूछा गया।

ये खबर भी पढ़ें : फ्रेंडशिप कप दिव्यांग T20 सीरीज पर मध्य प्रदेश का कब्जा, सीजी को 32 रन से हराया

आवश्यकता के बारे में प्रबंधन ने सूचित किया कि यह गृह मंत्रालय का निर्देश एवं इस दौरान सीआइएसएफ द्वारा भी कुछ कर्मियों से फर्जी गेट पास जब्त किया गया है।

यूनियन की ओर से सवाल उठाया गया है कि क्या प्रबंधन ने इस बात की जांच करवाया कि जिन अधिकारियों के नाम का फर्जी गेट पास जब्त हुआ है, उनका फोटो एवं व्यक्तिगत विवरण किस तरह फर्जी गेट पास बनाने के लिए प्राप्त किया गया?

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant की ये फोटो डरा देगी, स्ट्रेचर पर कर्मचारी, अफरा-तफरी

सुलभ शौचालय शीघ्र शुरू होगा

प्रबंधन ने जानकारी दी कि संयंत्र के भीतर 10 स्थानों पर सुलभ शौचालय शुरू करने के निर्णय में इसलिए देरी हो रही है, क्योंकि उनके मालिक का निधन हो गया है। प्रबंधन सुलभ शौचालय के मालिक के पश्चात दूसरे नंबर के व्यक्ति से बातचीत कर रही है।

ये खबर भी पढ़ें : MP,CG, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश, दिल्ली जाने वाली इन ट्रेनों का बदला रूट

SAIL शाबाश स्कीम  

बीएसपी प्रबंधन ने जानकारी देते हुए बताया कि यह एक कार्यस्थल पर प्रोत्साहित की जाने वाली योजना है, जिसमें विभागीय अधिकारी को किसी कर्मी द्वारा उनके उत्कृष्ट कार्य पर प्रशस्ति-पत्र देने का अधिकार है।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Township: अतिक्रमण रोकने  BSP OA की मांग, वेंडिंग ज़ोन बनाएं, राजस्व बढ़ाएं