Suchnaji

SAIL Foundation Day 2024: बीएसपी के 666 कर्मचारी दीर्घ सेवा सम्मान से सम्मानित

SAIL Foundation Day 2024: बीएसपी के 666 कर्मचारी दीर्घ सेवा सम्मान से सम्मानित
  • भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता ने सम्मानित किया।
  • मानव संसाधन विकास विभाग के कॉन्फ्रेंस हॉल में आयोजन हुआ।
  • बीएसपी के विभिन्न वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में 40 अधिकारियों को पुरस्कार मिला।
  • 626 कार्मिकों को इस्पात भवन में दीर्घ सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। 24 जनवरी 1973 को देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक इस्पात उत्पादक कंपनी सेल (Public Steel Producing Company SAIL) के गठन के उपलक्ष्य में हर साल 24 जनवरी को सेल की सभी इकाइयों में सेल स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया जाता है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : SAIL NJCS मीटिंग 2024: 24 से ज्यादा नेताओं का दिल्ली में जमावड़ा, हड़ताल को अवैध कहने पर भड़का गुस्सा

कुल 666 कर्मचारी पिछले 25 वर्षों से प्रतिबद्धता और समर्पण के साथ काम करने वाले भिलाई इस्पात संयंत्र और माइंस के 40 अधिकारियों और 626 कार्मिकों को स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (Steel Authority of India Limited) द्वारा प्रतिष्ठित ‘लॉन्ग सर्विस अवार्ड’ से सम्मानित किया गया।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant के 567 कर्मचारियों-अधिकारियों के हाथों में आया अवॉर्ड, पढ़िए कितना मिलेगा पैसा

इस अवसर पर, मुख्य अतिथि सेल (SAIL) भिलाई इस्पात संयंत्र (Bhilai Steel Plant) के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता ने मानव संसाधन विकास विभाग के कॉन्फ्रेंस हॉल में बीएसपी के विभिन्न वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में, 40 कार्यकारी पुरस्कार विजेताओं को उपहार और प्रशंसा प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। जबकि 626 कार्मिकों को इस्पात भवन में दीर्घ सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Township में पानी टंकियों को बनाने की पड़ी नींव, जल्द आएगा प्रेशर से पानी

इस अवसर पर संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) अंजनी कुमार, कार्यपालक निदेशक (प्रोजेक्ट्स) एस मुखोपाध्याय, कार्यपालक निदेशक (वित्त एवं लेखा) डॉ अशोक कुमार पंडा, कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) पवन कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रभारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवांए) डॉ एम रविन्द्रनाथ एवं ऑफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री एन के बंछोर, महासचिव परविंदर सिंह, कोषाध्यक्ष (ओए) अंकुर मिश्रा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी और संयंत्र कर्मी उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL LTA-LTC पर दायर परिवाद, नियमानुसार नहीं थी कटौती…!

मुख्य अतिथि अनिर्बान दासगुप्ता ने सेल स्थापना दिवस 2024 पर सेल इस्पात बिरादरी को बधाई दी और कहा कि 25 साल का लंबा समय किसी के जीवन का एक प्रमुख हिस्सा है और इस चौथाई सदी में आप अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में कई उतार-चढ़ाव से गुजरे हैं।

ये खबर भी पढ़ें : DLC, BSL, BAKS की बैठक में SAIL चेयरमैन को बुलाने की मांग, अब मिलेगा 2 आवास

अपनी सेवा के शेष वर्षों में, आप संयंत्र का नेतृत्व करेंगे, और मुझे आशा है कि आप इन 25 वर्षों में यहां प्राप्त अनुभव और ज्ञान का उपयोग करके कंपनी को ऊंचाइयों पर ले जाएंगे। स्थिरता, इस समय सबसे बड़ा लक्ष्य है और हमें अपने कार्बन फूटप्रिंट को कम करने की दिशा में ईमानदारी से काम करने की जरूरत है। ताकि हमारी आने वाली पीढ़ी भी बीएसपी में इस्पात निर्माण की विरासत को जारी रख सके। मैं सभी पुरस्कार विजेताओं और उनके परिवारों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूं।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL Bhilai Steel Plant के 567 अधिकारियों-कर्मचारियों के हिस्से आया जवाहर, नेहरू और जवाहर लाल नेहरू ग्रुप अवॉर्ड, पढ़िए नाम

ईडी पीएंडए पवन कुमार ने अपने उद्बोधन में दीर्घकालिक सेवा पुरस्कारों के महत्व पर संक्षेप में बात की। उपस्थित सभी कार्यपालक निदेशकों ने भी सभा को संबोधित किया और दीर्घकालिक सेवा पुरस्कार प्राप्त करने के लिए पुरस्कार विजेताओं की सराहना की एवं शुभकामनायें दी।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL Bhilai Steel Plant के 567 अधिकारियों-कर्मचारियों के हिस्से आया जवाहर, नेहरू और जवाहर लाल नेहरू ग्रुप अवॉर्ड, पढ़िए नाम

समारोह में, पुरस्कार विजेताओं ने भिलाई इस्पात संयंत्र (Bhilai Steel Plant) और टाउनशिप में अपने 25 वर्षों के अनुभव भी साझा किए। इस अवसर पर 25 साल की लंबी यात्रा को याद करने के लिए पुरस्कार विजेताओं की बीएसपी में शामिल होने के समय की पुरानी तस्वीरों के साथ-साथ उनकी वर्तमान तस्वीरों की एक लघु वीडियो प्रस्तुति भी दिखाई गई।

महाप्रबंधक (कार्मिक) अतुल नौटियाल ने दीर्घ सेवा पुरस्कार समारोह का संचालन किया और धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

ये खबर भी पढ़ें : SEWA को लेकर बड़ा बवाल, BSP के इन कार्मिकों के परिवार को मिल रहा 50 लाख