Suchnaji

SAIL Strike: नोटिस मिलते ही प्रबंधन का बड़ा जवाब, हड़ताल वापस लेने के लिए दिया यह तर्क

SAIL Strike: नोटिस मिलते ही प्रबंधन का बड़ा जवाब, हड़ताल वापस लेने के लिए दिया यह तर्क
  • हिंदुस्तान स्टील इम्प्लाइज यूनियन-सीटू के अध्यक्ष को दुर्गापुर स्टील प्लांट-डीएसपी प्रबंधन की ओर से पत्र लिखा गया है।

सूचनाजी न्यूज, दुर्गापुर। सेल हड़ताल (SAIL Strike) की नोटिस यूनियनों की ओर से प्रबंधन को सौंप दिया गया है। अब इस पर हरकत शुरू हो गई है। प्रबंधन की ओर से यूनियन को पत्र लिखकर अपील की गई है कि वे हड़ताल का फैसला वापस ले लें।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : SAIL RSP में फिर भगदड़, CISF जवान, कर्मचारियों ने किया मॉक ड्रिल, गैस रिसाव के घायलों को लेने पहुंची एम्बुलेंस

हिंदुस्तान स्टील इम्प्लाइज यूनियन-सीटू (Hindustan Steel Employees Union-CITU) के अध्यक्ष को दुर्गापुर स्टील प्लांट-डीएसपी प्रबंधन (Durgapur Steel Plant-DSP Management) की ओर से पत्र लिखा गया है। एनजेसीएस (NJCS) समझौते को अंतिम रूप देने और 39 महीने के बकाया भुगतान सहित भत्तों के बकाया भुगतान को लेकर हड़ताल की नोटिस दी गई है।

ये खबर भी पढ़ें : Lok Sabha Elections 2024: चुनावी सरगर्मी तेज, जायजा लेने लेने पहुंचीं Durg कलेक्टर

एचआरए, रात्रि पाली भत्ता सहित विभिन्न भत्तों में संशोधन, सेल और आरआईएनएल के अनुबंध श्रमिकों के वेतन में संशोधन, एपीआईआरएस (बोनस) योजना में संशोधन और वर्ष 2022-23 के लिए बोनस का अतिरिक्त भुगतान पिछले वर्ष से कम नहीं होना चाहिए, भर्ती, ग्रेच्युटी में कटौती के एकतरफा आदेश को वापस लेना, नई प्रोत्साहन योजना, आरएफआईडी प्रणाली आदि को लेकर हड़ताल की जा रही है।

ये खबर भी पढ़ें : Lok Sabha Elections 2024: चुनावी सरगर्मी तेज, जायजा लेने लेने पहुंचीं Durg कलेक्टर

29 व 30 जनवरी को प्रस्तावित हड़ताल के लिए दिए गए नोटिस का जवाब प्रबंधन ने दिया है। प्रबंधन का कहना है कि डीएसपी एक सतत प्रक्रिया संयंत्र है और पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा घोषित एक संरक्षित और निषिद्ध स्थान भी है।

इसलिए, संयंत्र के उत्पादन के इष्टतम स्तर को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण, परिष्कृत और थर्मल संवेदनशील उपकरणों, मशीनरी का सुचारू संचालन की आवश्यकता है।

ये खबर भी पढ़ें : Rourkela Steel Plant: लाठीकटा ब्लॉक की मां छला नृत्य मंडली बनी सिनर्जी लोक सांस्कृतिक महोत्सव 2024 की चैंपियन

इसके अलावा, कोक ओवन, ब्लास्ट फर्नेस, पावर प्लांट और स्टील मेल्टिंग शॉप जैसे थर्मल रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में संचालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए और कभी भी मौका नहीं छोड़ा जाना चाहिए, क्योंकि किसी भी व्यवधान का उपकरणों के स्वास्थ्य पर लंबे समय तक प्रभाव पड़ेगा और यह भी खतरे में पड़ सकता है। न केवल संयंत्र में पुरुषों और मशीनरी की सुरक्षा, बल्कि क्षेत्र के समग्र पर्यावरण के लिए भी हानिकारक हो सकती है।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant के RCL में सेफ्टी पर सजी संगीत की महफिल, ये हैं प्रतियोगिता के विजेता

प्रबंधन ने कहा है कि एक बार उत्पादन की गति प्रभावित होने के बाद, संयंत्र में सामान्य स्थिति बहाल करने में काफी समय लगता है। उत्पादन प्रक्रिया (निरंतर) में किसी भी व्यवधान से न केवल संयंत्र के उत्पादन और वित्तीय प्रदर्शन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा, बल्कि मानव जीवन भी खतरे में पड़ जाएगा। साथ ही, मौजूदा कार्यबल के मनोबल पर भी इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

ये खबर भी पढ़ें : Business Conclave 2030: Bhilai CA ब्रांच के मंच पर व्यापारियों को मंत्री ओपी चौधरी दे गए मंत्र

उत्पादन और उत्पादकता की सकारात्मक प्रवृत्ति को बनाए रखने और लगातार आधार पर लाभ कमाने के लिए डीएसपी सामूहिक प्रयासों की आवश्यकता है, इसलिए समय की मांग उपलब्ध संसाधनों का अधिकतम उपयोग करना है।

इसलिए, एक महत्वपूर्ण हितधारक के रूप में आपकी ऊर्जा और संसाधनों को स्थायी आधार पर उत्पादन की गतिविधियों की ओर निर्देशित करके संगठन के उद्देश्य में योगदान देने और आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका है। इन परिस्थितियों में यूनियन प्रस्तावित हड़ताल पर आगे बढ़ने से बचें।

ये खबर भी पढ़ें : ईपीएस 95 हायर पेंशन: EPEO को समय पर नहीं मिली जानकारी, स्पष्टीकरण, अटकी पेंशन, सड़क पर बवाल