Suchnaji

भिलाई स्टील प्लांट के पहले सुरक्षा शिरोमणि बने सौरभ सुमन और सुरक्षा मित्र दिलेश्वर

भिलाई स्टील प्लांट के पहले सुरक्षा शिरोमणि बने सौरभ सुमन और सुरक्षा मित्र दिलेश्वर
  • पीबीएस विभाग में सुरक्षा जागरूकता हेतु किया गया अच्छा काम, मिला इनाम।  
  • सुरक्षा को प्रोत्साहित करने शुरू की गई सुरक्षा शिरोमणि व सुरक्षा मित्र पुरस्कार योजना शुरू।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट (Bhilai Steel Plant) के पीबीएस विभाग (PBS Department) द्वारा सुरक्षा पर फोकस व सुरक्षित कार्यसंस्कृति को आत्मसात करने की लगातार पहल की जा रही है। इसी क्रम में जनवरी से दो नए पुरस्कार सुरक्षा शिरोमणि व सुरक्षा मित्र पुरस्कार की घोषणा मुख्य महाप्रबंधक राजीव पांडेय के पहल पर  की गई थी।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : SAIL Foundation Day 2024: रन फॉर सेल के लिए 5 किलोमीटर तक दौड़ गए लोग, पढ़िए विजेताओं के नाम

इसे लागू करते हुए जनवरी माह में प्रथम सुरक्षा शिरोमणि बीएसपी कर्मचारी सौरभ सुमन ओसीटी तथा प्रथम सुरक्षा मित्र  दिलेश्वर देवांगन बने।
शनिवार आयोजित कार्यक्रम में मुख्यातिथि मुख्य महाप्रबन्धक सौम्य टोकदार (बीएफ), अतिथि विशेष मुख्यमहाप्रबन्धक अनूप दत्ता (सिंटर प्लांट), तथा महाप्रबन्धक डॉ एआर सोनटके (एसईडी) थे।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai इस्पात विकास विद्यालय सेक्टर 6 व 11 के कक्षा 1 में  Admission शुरू

कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य महाप्रबन्धक पावर फैसिलिटीज राजीव पांडेय तथा कार्यक्रम का संचालन सुलेमान खान तथा धन्यवाद प्रस्ताव डीएसओ टीके दत्ता द्वारा किया गया। इस अवसर पर विभाग प्रमुख महाप्रबंधक संजय निखार, महाप्रबंधक अभय कुमार, महाप्रबंधक शेख ज़ाकिर, महाप्रबंधक पीएस खोपरागड़े, महाप्रबंधक पीके मोहन, महाप्रबंधक एसएनएस यादव आदि की प्रमुख उपस्थिति थी।

ये खबर भी पढ़ें : BSP नर्सरी में अवैध प्लाटिंग, मकान ध्वस्त, 4 एकड़ जमीन कब्जामुक्त

ज्ञात हो कि सुरक्षा शिरोमणि पुरस्कार (Shiromani Award) नियमित बीएसपी कर्मचारियो (BSP Employees) में से एक को जिन्होंने सुरक्षा हेतु गत माह में उत्कृष्ट कार्य किया हो उन्हें दिया जा रहा है। साथ ही प्रत्येक सप्ताह एक कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी को सुरक्षा मित्र पुरस्कार दिया जाता हैं। जिसमे सी राउंड, नियर मिस रिपोर्टिंग, सुरक्षा के प्रति साथियों में जागरूकता फैलाना, सुरक्षा कार्यक्रम में सहभागिता जैसे अलग अलग फेक्टर्स के आधार पर मापदंड निर्धारित किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : ढाई महीने में वेज रिवीजन नहीं हुआ तो SAIL में हड़ताल तय