Suchnaji

आपका Fastag होने जा रहे ब्लैक लिस्ट, अब ‘एक वाहन एक फास्टैग’

आपका  Fastag होने जा रहे ब्लैक लिस्ट, अब ‘एक वाहन एक फास्टैग’
  • भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने राष्ट्रीय राजमार्ग अनुभव को बेहतर बनाने के लिए ‘एक वाहन एक फास्टैग’ पहल का शुभारंभ किया।

सूचनाजी न्यूज, दिल्ली। भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (National Highway Authority of India) (एनएचएआई) ने इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह प्रणाली की दक्षता बढ़ाने और टोल प्लाजा पर निर्बाध आवाजाही सुविधा प्रदान करने के लिए ‘एक वाहन, एक फास्टैग’ पहल का शुभारंभ किया है।
इस पहल का उद्देश्य कई वाहनों के लिए एकल फास्टैग का उपयोग अथवा एक विशेष वाहन के लिए कई फास्टैग को जोड़ने जैसे उपयोगकर्ताओं के व्यवहार को हतोत्साहित करना है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 पेंशनर्स की EPFO से 7 बड़ी मांग, पढ़िए ताज़ा खबर

एनएचएआई फास्‍टैग (NHAI Fastag) उपयोगकर्ताओं को भारतीय रिजर्व बैंक (reserve Bank of India) दिशानिर्देशों के अनुसार केवाईसी अपडेट करके अपने नवीनतम फास्‍टैग की ‘अपने ग्राहक को जानें’ (केवाईसी) प्रक्रिया को पूरा करने के लिए भी प्रोत्साहित कर रहा है। बकाया धनराशि के साथ अपूर्ण केवाईसी वाले फास्टैग को 31 जनवरी 2024 के बाद बैंकों द्वारा निष्क्रिय/ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL हड़ताल: NJCS मीटिंग से पहले दे दिया नोटिस, संयुक्त यूनियन सभी प्लांट और खदान करेगी 29-30 को हड़ताल

उपयोगकर्ताओं को असुविधा से बचने के लिए यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके नवीनतम फास्‍टैग का केवाईसी पूरा हो चुका है। फास्‍टैग उपयोगकर्ताओं को ‘एक वाहन, एक फास्‍टैग’ का भी अनुपालन करना होगा और अपने संबंधित बैंकों के माध्यम से पहले जारी किए गए सभी फास्‍टैग को छोड़ना होगा।

ये खबर भी पढ़ें : 57वीं रोलिंग मिल्स ऑपरेटिंग कमेटी मीट: Bokaro Steel Plant में महामंथन

केवल नवीनतम फास्‍टैग खाता सक्रिय रहेगा, क्योंकि पिछले टैग 31 जनवरी 2024 के बाद निष्क्रिय/ब्लैकलिस्ट कर दिए जाएंगे। आगामी सहायता या प्रश्नों के लिए, फास्‍टैग उपयोगकर्ता निकटतम टोल प्लाजा या अपने संबंधित जारीकर्ता बैंकों के टोल-फ्री ग्राहक सेवा नंबर से जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं।
फास्‍टैग को कभी-कभी जानबूझकर विंडस्क्रीन पर नहीं लगाते, जो गलत है

ये खबर भी पढ़ें : SAIL RSP में फिर भगदड़, CISF जवान, कर्मचारियों ने किया मॉक ड्रिल, गैस रिसाव के घायलों को लेने पहुंची एम्बुलेंस

एक विशेष वाहन के लिए कई फास्‍टैग जारी किए जाने और भारतीय रिजर्व बैंक के आदेश का उल्लंघन करते हुए केवाईसी के बिना फास्‍टैग जारी किए जाने की हालिया रिपोर्टों के बाद एनएचएआई ने यह पहल की है। इसके अलावा, फास्‍टैग को कभी-कभी जानबूझकर वाहन की विंडस्क्रीन पर नहीं लगाया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप टोल प्लाजा पर अनावश्यक देरी होती है और अन्‍य राष्ट्रीय राजमार्ग उपयोगकर्ताओं को असुविधा होती है।

ये खबर भी पढ़ें : Lok Sabha Elections 2024: चुनावी सरगर्मी तेज, जायजा लेने लेने पहुंचीं Durg कलेक्टर

8 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता

फास्‍टैग ने देश में लगभग 98 प्रतिशत की पहुंच दर और 8 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह प्रणाली में क्रांति ला दी है।

‘एक वाहन, एक फास्टैग’ पहल टोल संचालन को अधिक कुशल बनाते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग उपयोगकर्ताओं के लिए निर्बाध और आरामदायक यात्रा सुनिश्चित करने में सहायता करेगी।

ये खबर भी पढ़ें : श्री शंकराचार्य कैंपस में इलेक्ट्रिकल, कम्युनिकेशन, सस्टेनेबल टेक्नालॉजी पर कांफ्रेंस शुरू, मलेशिया की एक्सपर्ट ये बोलीं