Suchnaji

कोल लॉजिस्टिक्स प्लान और पॉलिसी पर बड़ी खबर

कोल लॉजिस्टिक्स प्लान और पॉलिसी पर बड़ी खबर
  • केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी कोयला लॉजिस्टिक्स योजना और नीति का शुभारंभ करेंगे।

सूचनाजी न्यूज, दिल्ली। कोयला मंत्रालय के तत्वावधान में भारतीय राष्ट्रीय समिति विश्व खनन कांग्रेस 29 फरवरी 2024 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में “कोल लॉजिस्टिक्स प्लान एंड पॉलिसी” का शुभारंभ करने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन कर रही है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : ईपीएस 95 पेंशन,आरओसी क्लॉज: नियम स्पष्ट नहीं और मसौदा भी खराब…!

केंद्रीय कोयला, खान और संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी मुख्य अतिथि के रूप में इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे और “कोल लॉजिस्टिक्स प्लान एंड पॉलिसी” का अनावरण करेंगे। नीति आयोग तथा कोयला, रेलवे, बिजली, इस्पात, खान, पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय सहित विभिन्न मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी व कोयला, इस्पात, बिजली और अन्य क्षेत्रों के उद्योग प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।

ये खबर भी पढ़ें :  बोकारो स्टील प्लांट ने IMS पोर्टल किया लांच, पढ़िए फायदे, इन्हें मिला पुरस्कार

कोयला मंत्रालय ने भारत की ऊर्जा सुरक्षा के लिए विभिन्न पहलें शुरू की हैं, जिनका लक्ष्य वित्तवर्ष 2030 तक 1.5 बिलियन टन कोयला उत्पादन करना है। एकीकृत कोयला लॉजिस्टिक्स योजना और नीति तकनीकी रूप से उन्नत, एकीकृत, लागत प्रभावी, कोयला निकासी के लिए लचीला, टिकाऊ व विश्वसनीय लॉजिस्टिक्स इको-सिस्टम संबंधी प्रारूप विकसित करने के लिए एक दूरदर्शी दृष्टिकोण के साथ तैयार की गई है।

ये खबर भी पढ़ें :  राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली ट्रस्ट: NPS को लेकर बड़ी खबर, संशोधन Notified

इस रणनीतिक ढांचे का लक्ष्य आयातित कोयले पर निर्भरता को कम करके आत्मनिर्भर भारत के दृष्टिकोण के अनुरूप वित्तवर्ष 2030 तक कोयला क्षेत्र के भीतर त्वरित मांग और आपूर्ति को प्रोत्साहित करना है।

वर्ष 2030 तक कोयला उत्पादन को लगभग दोगुना करने के लक्ष्य के साथ, कोयला मंत्रालय ने देश भर में कोयला लॉजिस्टिक्स अवसंरचना के विकास के लिए एक व्यापक कार्य योजना विकसित की है। प्रमुख परियोजनाओं में फर्स्ट-माइल कनेक्टिविटी, कोयले का जल परिवहन, रेल निकासी क्षमताओं में वृद्धि और कोयले की तटीय पोत-परिवहन शामिल हैं।

ये खबर भी पढ़ें : ईपीएस 95 पेंशन,आरओसी क्लॉज: नियम स्पष्ट नहीं और मसौदा भी खराब…!

यह आयोजन कोयला निकासी प्रक्रियाओं को अनुकूल बनाने पर ध्यान देने के साथ, देश भर में बुनियादी ढांचे के समावेशी विकास के लिए विस्तृत चर्चा और सुझावों को प्रोत्साहित करने का प्रयास है।

ये खबर भी पढ़ें :  राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली ट्रस्ट: NPS को लेकर बड़ी खबर, संशोधन Notified