Suchnaji

EPS 95 पर बड़ी खबर: डिमांड लेटर हो रहा जारी, जल्द शुरू होगी उच्च पेंशन

EPS 95 पर बड़ी खबर: डिमांड लेटर हो रहा जारी, जल्द शुरू होगी उच्च पेंशन
  • अपर केन्द्रीय भविष्य निधि आयुक्त (मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़) वी. रंगनाथ ने छत्तीसगढ़ में श्रमिक संगठनों संग की बैठक। कर्मचारियों के विषयों पर चर्चा की गई।

अज़मत अली, भिलाई। ईपीएस 95 (EPS 95), ईपीएफओ (EPFO), पेंशन (Pension) , कर्मचारी और नियोक्ता से जुड़े सवालों का जवाब अपर केन्द्रीय भविष्य निधि आयुक्त (मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़) वी. रंगनाथ ने दिया है। कर्मचारी यूनियन के प्रतिनिधियों के साथ रायपुर के कर्मचारी भविष्य निधि संगठन क्षेत्रीय कार्यालय में एक-एक सवालों का बारीकी से जवाब दिया है।

AD DESCRIPTION

गुरुवार दोपहर बाद शुरू हुई मीटिंग में यह स्पष्ट कर दिया गया है कि जिनको पेंशन मिल रहा है वो नए पेंशन स्कीम की एलिजीबिट पूरा होने के बाद अमाउंट जमा करते साथ ही नए पेंशन स्कीम में शामिल हो जाएंगे। और उन्हें अधिक राशि मिलने लगेगी। किसी भी कर्मी का रुपया नहीं डूबेगा।

ये खबर भी पढ़ें:   SAIL Junior Officer Transfer: भिलाई स्टील प्लांट ने एक साथ 64 अधिकारियों का किया तबादला, पढ़िए नाम

अपर केन्द्रीय भविष्य निधि आयुक्त वी. रंगनाथ के साथ बैठक में भविष्य निधि एवं विविध उपबंध अधिनियम, 1952 के अंतर्गत रचित भविष्य निधि व संबंधित योजनाओं के संबंध में नियोक्ता व कर्मचारी से विस्तृत चर्चा की गई। इसके अतिरिक्त नियोक्ता द्वारा भविष्य निधि से सम्बंधित जो दिक्कते/परेशानी आ रही है इन पर भी विस्तृत चर्चा किया गया।

ये खबर भी पढ़ें   CM भूपेश बघेल ने शासकीय कर्मचारियों का 5% बढ़ाया महंगाई भत्ता, कैबिनेट मीटिंग में ये भी फैसले

छत्तीसगढ़ के विभिन्न श्रम संगठनों ने हिस्सा लिया। बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष उज्जवल दत्ता, कार्यकारी महासचिव शिवबहादुर सिंह, अतरिक्त महासचिव दिलेश्वर राव, ईवराज डहरिया-महासचिव सेल रिफेक्ट्री वर्कर्स यूनियन, नागेंद्र चौधरी-महासचिव ठेका श्रमिक संगठन, रमेश तिवारी-महासचिव छत्तीसगढ़ सीमेंट एवं खदान कर्मचारी यूनियन उपस्थित हुए।

ये खबर भी पढ़ें:   BSP दल्ली आयरन ओर माइंस में 5 घंटे प्रोडक्शन बंद कर मजदूरों ने प्रबंधन को झुकाया, मांगें फटाफट स्वीकार

बैठक में पेंशन पर सभी संगठनों ने कई प्रश्न पूछे। अधिकारियों ने जवाब दिए। अधिकारियों ने बताया कि सबसे पहले एलिजिबिलिटी देखी जा रही है, जिसका एलिजिबल हो गया है, उसको डिमांड लेटर मिलने लगा है। किसी भी कर्मी को कभी भी इस स्कीम से हटने का अधिकार होगा, वो फॉर्म भरा हों, फिर भी हट सकते हैं। चूंकि डिमांड लेटर मिलने लगा है। प्रक्रिया चल रही है। आवेदन करने की आखिरी तारीख भी 11 जुलाई है। इसके बाद जल्द पेंशन स्कीम चालू होगी।

बैठक में यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि भिलाई स्टील प्लांट के कर्मियों की एलिजीबिटी की जांच की जा रही है। डिमांड नोटिस में हर कर्मी को तीन माह जुलाई अगस्त सितम्बर के आधार पर जमा करने की राशि बताई जाएगी, जिसमे से जिस माह के हिसाब से कर्मी राशि जमा करेगा। राशि जमा होते साथ कर्मी का पेंशन स्कीम लागू हो जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें:   CM भूपेश बघेल ने शासकीय कर्मचारियों का 5% बढ़ाया महंगाई भत्ता, कैबिनेट मीटिंग में ये भी फैसले

बैठक में यूनियन ने शिकायत की है कि भिलाई इस्पात संयंत्र एवं सेल रिफेक्टरी यूनिट में कार्यरत ठेका श्रमिको की जो राशि उनके वेतन से कटी जाती है, वो राशि पीएफ खाते में कम दर्शाती है। यह शिकायत बार-बार श्रमिकों द्वारा किया जाता है। यूनियन ने मांग किया कि भिलाई इस्पात संयंत्र एवं सेल रिफेक्टरी यूनिट में कार्यरत ठेकेदारों के पीएफ रिकॉर्ड की जांच किया जाए।

श्रमिकों के समस्या के निवारण के लिए भिलाई में पीएफ शिकायत शिविर लगे, जिससे श्रमिकों के पीएफ के समस्या का निवारण हो सके। यूनियन ने मांग रखी कि पीएफ कार्यलय के प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाए, जिससे श्रमिकों को अपना पीएफ संबंधी कार्य करने में होने वाली परेशानी दूर हो सके।