Suchnaji

Bokaro Steel Plant की पंक्चर दुकान चल पड़ी, कार्मिक टेंशन फ्री, हजारों में हो रहा रोज धंधा

Bokaro Steel Plant की पंक्चर दुकान चल पड़ी, कार्मिक टेंशन फ्री, हजारों में हो रहा रोज धंधा
  • धर्मदास कुमार ने बताया कि बाइक, साइकिल, कार और डोजर तक की मरम्मत करते हैं। कंप्रेशर मशीन तक लगाया गया है।

सूचनाजी न्यूज, बोकारो। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल के बोकारो स्टील प्लांट ने पिछले साल एक पंक्चर की दुकान खोली थी। यह दुकान कर्मचारियों और अधिकारियों की सुविधा के लिए खोली गई थी, जिसका रिजल्ट उम्मीद से ज्यादा बेहतर आया है।

AD DESCRIPTION

एक साल से भीतर कर्मचारियों और अधिकारियों को कठिनाइयों से निजात मिल रही है। साथ ही पंक्चर बनाने वाले बंदे की रोज की कमाई भी एक हजार से लेकर 3 हजार तक पहुंच चुकी है। अब तो एक मिस्त्री भी रखकर कार्मिकों को टेंशन फ्री किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें  Bokaro Steel Plant: मजदूर की मौत पर कर्मचारियों का हंगामा, बरसी CISF की लाठी, BGH में कराना पड़ा नेताओं को उपचार

बीएसएल के मशीन शॉप कैंटीन गोल चक्कर पर पंक्चर की दुकान खुली हुई है। पंक्चर की दुकान चलाने वाले धर्मदास कुमार ने Suchnaji.com को बताया कि यहां दुकान खुलने से कर्मचारियों को बहुत राहत मिल रही है। मेरे पास फोन करके लोग बुला लेते हैं।

ये खबर भी पढ़ें  327 बीएसपी कर्मचारियों और पत्नियों को मिला माइक, सुर-ताल और लय ने जमाया रंग, जानिए विजेताओं के नाम

इससे यह फायदा हो रहा है कि कर्मचारियों और अधिकारियों का कामकाज प्रभावित नहीं हो रहा है। वे उत्पादन में लगे रहते हैं और इधर, उनके खराब वाहन का मरम्मत हो जाता है। पहले, प्लांट के भीतर वाहन खराब होने और पंक्चर होने की वजह से कर्मचारियों को धक्का देकर वाहन प्लांट के बाहर ले जाना पड़ता था। अब ये समस्या दूर हो गई है। प्लांट के हर विभाग से लोग फोन करके अपने वाहनों की मरम्मत करा रहे हैं।

ये खबर भी पढ़ें  SAIL हाउस लीज को लेकर बड़ा अपडेट, BSP के नोटिस पर होगी कानूनी लड़ाई

धर्मदास कुमार ने बताया कि बाइक, साइकिल, कार और डोजर तक की मरम्मत करते हैं। कंप्रेशर मशीन तक लगाया गया है। ट्यूबलेस टायर का भी पंक्चर बनाते हैं। हेल्पलाइन नंबर सार्वजनिक होने की वजह से प्लांट में कार्मिकों को भटकना नहीं पड़ रहा है। वहीं, सेल के अन्य इकाइयों के कार्मिकों ने भी इस तरह की सुविधा अपने-अपने प्लांट में देने की आवाज उठाई थी। लेकिन, किसी अन्य प्लांट से इस तरह की कोई खबर सामने नहीं आई है। जबकि बोकारो के कार्मिक बेहतर सुविधा का फायदा उठा रहे हैं।

ये खबर भी पढ़ें  SAIL कर्मचारियों के लिए Bhilai Hotel में बुकिंग बैन, अधिकारियों को सुख-चैन, इतना भेदभाव