Suchnaji

BSP Accident: झुलसे 4 मजदूरों में 100% जले रंजीत ने तोड़ा दम

BSP Accident: झुलसे 4 मजदूरों में 100% जले रंजीत ने तोड़ा दम
  • रंजीत 100 प्रतिशत झुलस गया था। जबकि अमित 80%, राजू तांडी 20%, रमेश मौर्या 40% झुलसे थे।

अज़मत अली, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (Steel Authority Of India Limited) के भिलाई स्टील प्लांट में 25 अप्रैल को हादसे में जख्मी एक मजदूर की मौत हो गई है। इलाज के दौरान सेक्टर 9 हॉस्पिटल में 100 प्रतिशत झुलसे ठेका मजदूर रंजीत ने दम तोड़ दिया है। बीती रात मजदूर की मौत की खबर से हड़कंप मच गया है। परिवार में कोहराम मचा हुआ है। खुर्सीपार निवासी मजदूर का आज पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम किया जाएगा। परिवार को शव सुपुर्द कर दिया जाएगा।

AD DESCRIPTION R.O. No. 12697/ 111

ये खबर भी पढ़ें:  BSP Officer Suicide Case: जिंदगी पर ही दांव, SAIL अधिकारियों में भारी तनाव, घटता मैनपॉवर, बढ़ता मीटिंग टाइम

AD DESCRIPTION R.O. No.12697/ 111

ठेका मजदूर रंजीत सिंह, अमित, राजू और रमेश कांटीनुअस कास्टिंग के कास्टर नंबर 6 के टनल में वेल्डिंग का कार्य रहे थे। 25 अप्रैल की दोपहर भीषण अग्निकांड की वजह से चारों मजदूर झुलस गए थे। रंजीत 100 प्रतिशत झुलस गया था। जबकि अमित 80%, राजू तांडी 20%, रमेश मौर्या 40% झुलसे थे।

बताया जा रहा है कि रंजीत को सांस लेने में तकलीफ थी। लगातार आइसीयू और वेंटिलेटर पर रहने के बाद सेहत में सुधार हुआ था। वार्ड में शिफ्ट किया गया था। मंगलवार को दोबारा तकलीफ बढ़ने पर आइसीयू में ले जाया गया। इसके बाद सेहत में सुधार नहीं हो सका है। रात में मौत की खबर आ गई।

ये खबर भी पढ़ें:  BSP Officer Suicide: 42 टन लोहा चोरी, FIR, साजिश और आत्महत्या तक, पुलिस जांच में कई एंगल

खुर्सीपार निवासी 34 वर्षीय रंजीत के परिवार को नौकरी और मुआवजा आदि देने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। साथ ही पेंशन की भी व्यवस्था की गई है ताकि आश्रित परिवार का कुछ दर्द कम किया जा सके।

बता दें कि इस मामले में बीएसपी के ईडी वर्क्स, सीजीएम को राज्य सरकार की ओर से नोटिस जारी किया जा चुका है। वहीं, जीएम और डिप्टी मैनेजर को सस्पेंड तक किया गया है। पुलिस जांच अब भी जारी है।

ये खबर भी पढ़ें:  Bsp Officer Suicide: शराब, ज़हर और आत्महत्या, सुसाइड नोट पर लिखा-“भविष्य में आने वाले अत्यधिक कार्य दबाव में यह कदम उठा रहा हूं”

Confined Space में लापरवाही करने की वजह से हादसा हुआ था। इसको देखते हुए बीएसपी प्रबंधन को निर्देशित किया गया था कि तत्काल प्रभाव से ऐसे एरिया के सभी कैपिटल रिपेयर और अन्य कार्यों को रोक दिया जाए। डिप्टी डायरेक्टर हेल्थ एंड सेफ्टी ने सभी कार्यों पर बैन लगा दिया था।