Suchnaji

NMDC-एमईएआई के Iron Ore Processing पर राष्ट्रीय संगोष्ठी, जुटे एक्सपर्ट

NMDC-एमईएआई के Iron Ore Processing पर राष्ट्रीय संगोष्ठी, जुटे एक्सपर्ट
  • लौह अयस्‍क प्रसंस्‍करण के भविष्‍य पर एमईएआई तथा एनएमडीसी ने किया राष्ट्रीय संगोष्‍ठी का आयोजन।

सूचनाजी न्यूज, हैदराबाद। माइनिंग इंजीनियर्स एशोसिएशन ऑफ इंडिया हैदराबाद चैप्‍टर भारत (Mining Engineers Association of India Hyderabad Chapter India) के सबसे बड़े लौह अयस्‍क उत्‍पादक एनएमडीसी (Iron ore producer NMDC) के सहयोग से 16-17 फरवरी, 2024 के दौरान हैदराबाद में एक राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी का आयोजन कर रहा है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड के डायरेक्टर नीलेंदु कुमार होंगे सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड के CMD

“उन्‍नत लौह अयस्‍क बेनीफिसिएशन और सुस्थिर निम्‍न ग्रेड लौह अयस्‍क उपयोग” विषय पर ज्ञान साझा करने के उद्देश्‍य से संगोष्‍ठी का आयोजन उद्योग के सतत विकास की दिशा में सार्थक प्रगति के लिए किया गया।

ये खबर भी पढ़ें : हॉकी के फाइनल में RSP ने TATA Steel को 3-2 से हराया, इधर-BSP करेगा SAIL वॉलीबॉल चैंपियनशिप 2023-24 की मेजबानी

शुक्रवार को इसके उद्घाटन समारोह में मुख्‍य अतिथि दिलीप कुमार मोहंती, निदेशक (उत्‍पादन) एनएमडीसी ने कहा कि “निम्‍न श्रेणी के लौह अयस्‍क का बेनीफिसिएशन और उपयोग इस मूल्‍यवान खनिज से प्राप्ति को अधिकतम करने में निर्णायक बदलाव ला रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : भिलाई स्टील प्लांट के इन अधिकारियों-कर्मचारियों को मिला ये स्पेशल अवॉर्ड

खनिज सुरक्षा और आत्‍मनिर्भरता के निर्माण में बेनीफिसिएशन प्रौद्योगिकी में प्रगति और निम्‍न श्रेणी के लौह अयस्‍क का उपयोग महत्‍वपूर्ण स्‍थान रखते हैं। लौह और अयस्‍क आपूर्ति श्रृंखला में एक महत्‍वपूर्ण कड़ी होने के साथ वे उत्‍पादन एवं दक्षता बढ़ाने में भी बहुत महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और सुस्थिर भविष्‍य को मजबूती देते हैं।”

ये खबर भी पढ़ें : महतारी वंदन योजना: पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय पहुंचे शिविर में, जानिए क्या कहा

एमईएआई के अध्‍यक्ष एसएन. माथुर-टाटा स्‍टील के पूर्व कार्यकारी निदेशक वीएस. राव, एनएमडीसी के पूर्व सीएमडी (प्रभारी) एसके. अग्रवाल, एमईएआई पत्रिका के संपादक डॉ. पी.वी. राव तथा ईआरएम ग्रुप के सीओओ धनंजय जी. रेड्डी कार्यक्रम में सम्‍मानित अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL NEWS: ठेका श्रमिकों से NJCS यूनियन ने किया छल

संगोष्‍ठी के उद्घाटन समारोह में खनन उद्योग के इन दिग्‍गजों ने प्रतिभागियों को संबोधित किया और उन्‍हें भारत के खनन और धातु विज्ञान परिदृश्‍य में महत्‍वपूर्ण योगदान देने के लिए प्रोत्‍साहित किया।

इन दूरदर्शी नेताओं का स्‍वागत पीठासीन अधिकारी एनएमडीसी के निदेशक (तकनीकी) एवं एमईएआई, हैदराबाद चैप्‍टर के अध्‍यक्ष विनय कुमार ने किया।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL में AWA का पैसा बढ़ने पर मजदूरों ने खिलाई एक-दूसरे को मिठाई, BSL में NJCS नेता दहाड़े

विनय कुमार ने कहा कि “चूंकि खनन उद्योग खनिज जवाबदेही का निर्माण करने और औद्योगिक प्रगति को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है, हमें जिम्‍मेवार खनन की दिशा में उद्योग के लिए उच्‍चतर लक्ष्‍य निर्धारित करने चाहिए।”

ये खबर भी पढ़ें : Durg पहुंचे CM विष्णु देव साय, 25-50 लाख का तोहफा

दो दिन की इस संगोष्‍ठी में उद्योग के विशेषज्ञों तथा एनएमडीसी, एएम/एनएस, टाटा स्‍टील, एमएसपीएल, हैदराबाद विश्‍वविद्यालय तथा आईआईटी मद्रास एवं अन्‍य प्रतिभागियों द्वारा प्रस्‍तुतीकरण दिए जाएंगे तथा विचार-विमर्श किए जाएंगे। तत्‍पश्‍चात संगोष्‍ठी की संस्‍तुतियां सरकारी प्राधिकारियों को प्रेषित की जाएंगी।

उद्घाटन के दौरान एमईएआई और एनएमडीसी द्वारा “उन्‍नत लौह अयस्‍क बेनीफिसिएशन एवं सुस्थिर निम्‍न ग्रेड लौह अयस्‍क उपयोग” पर राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी की आधिकारिक स्‍मारिका का विमोचन भी किया गया।

ये खबर भी पढ़ें : Durg पहुंचे CM विष्णु देव साय, 25-50 लाख का तोहफा