Suchnaji

SAIL BSL: 3 मॉडल कैंटीन 1.68 करोड़ के ठेके पर होगी, 2 रुपए में चाहिए चाय-कॉफी, 5 रुपए में नाश्ता-खाना

SAIL BSL: 3 मॉडल कैंटीन 1.68 करोड़ के ठेके पर होगी, 2 रुपए में चाहिए चाय-कॉफी, 5 रुपए में नाश्ता-खाना

सूचनाजी न्यूज, बोकारो। बोकारो स्टील प्लांट (Bokaro Steel Plant) की मॉडल कैंटीनों का मामला तूल पकड़ रहा है। बीएकेएस बोकारो (BAKS Bokaro) ने प्रबंधन को चेतावनी दे दी है। गुणवत्ता सुधार न होने पर घेराबंदी की धमकी दी गई है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें :International Women’s Day 2024: BSP की महिला कर्मचारियों-अधिकारियों का कार्यस्थल पर ही सम्मान करेगा BMS

बीएसएल प्रबंधन संयंत्र (BSL Management ) का भीतर तीन मॉडल कैंटीन चलाने के लिए प्राईवेट कैंटीन कैटर्स से निविदा आमंत्रित किया है। इसके लिए तीन वर्षों में तीनों कैंटीन संचालन के लिए, बीएसएल प्राइवेट कैटर्स को 1 करोड़ 68 लाख 65 हजार रुपया का भुगतान करेगी।

ये खबर भी पढ़ें :BSP की जमीन पर खुलेगा CGHS सेंटर-दवाखाना, कर्मचारियों, पेंशनभोगियों और आश्रित परिवार का ऐसे होगा इलाज

इस पर बीएसएल अनाधिशासी कर्मचारी संघ ने अधिशासी निदेशक कार्मिक एवं प्रशासन को प्रस्तावित कैंटीनों में सेल कारपोरेट कार्यालय की तर्ज पर खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता तथा दर तय करने के लिए पत्र दिया है।

ये खबर भी पढ़ें :ये खबर भी पढ़ें :बोकारो स्टील प्लांट के मजदूर उतरे सड़क पर, टेबल के नीचे से लेनदेन पर दहाड़े राजेंद्र सिंह, देखिए वीडियो

बोकारो इस्पात प्रबंधन द्वारा बोकारो इस्पात संयंत्र के भीतर एसएमएस 1, हॉट स्ट्रीप मिल तथा आरएमएचपी कैंटीन का संचालन हेतु टेंडर निकाला गया है। इसमे संचालनकर्ता अभिकर्ताओं को बीएसएल प्रबंधन द्वारा आर्थिक सहायता देने का भी जिक्र है।

ये खबर भी पढ़ें :वित्तीय वर्ष 2023-24 की आखिरी तिमाही में लंबी छलांग की ओर Bhilai Steel Plant, पढ़िए आंकड़े

कैंटीन टेंडर का विवरण इस प्रकार

SMS 1 कैंटीन: टेंडर वैल्यू-4019220.00
RMHP कैंटीन: टेंडर वैल्यू-6422652.00
HRCF कैंटीन: टेंडर वैल्यू-6424056.00

ये खबर भी पढ़ें :छत्तीसगढ़ में सिर्फ BSP कर्मचारी के खाते में आई बढ़ी EPS 95 हायर पेंशन, बाकी इंतजार में

रहने और इलाज का भी खर्च उठाएगा बीएसएल

इसके अतिरिक्त , कैंटीन अभिकर्ताओं को कैंटीन भवन, बिजली, पानी, फर्नीचर, बर्तन, एसी, कूलर, पंखा, उसमे कार्यरत कर्मचारियों के रहने के लिए आवासीय व्यवस्था, इलाज की सूविधा (पूर्व में इंडियन कॉफी हाउस के कर्मचारियों को भी दिया गया था) भी दी जाएगी।

 ये खबर भी पढ़ें :Bhilai Steel Plant: कोक ओवन के कार्मिक शिरोमणि पुरस्कार से सम्मानित

करोड़ों का खर्च, इसलिए क्वालिटी से समझौता न हो

स्वभाविक है कि जब इतनी बड़ी धनराशी, कैंटीन अभिकर्ताओं को दी जा रही है तो बीएसएल कार्मिकों के लिए कैंटीन खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता तथा दर, टाटा स्टील और सेल कारपोरेट कार्यालय में संचालित कैंटीनों जैसी होनी चाहिए या पूर्णतः निःशुल्क होनी चाहिए।

ये खबर भी पढ़ें :BSP एससी-एसटी इम्प्लाइज एसोसिएशन की गुटबाजी में उलझा डाक्टर अंबेडकर की प्रतिमा स्थल का सौंदर्यीकरण

स्पेशल आई-कार्ड जारी किया जाए

वहीं, वर्तमान कैंटीन संचालक, बीएसएल प्रबंधन को किराया देकर/शुल्क अदा कर बाजार दर पर खाद्य सामाग्री की बिक्री कर रहे है। यूनियन ने मांग किया है कि बाहरी व्यक्ति/गैर कार्मिक वर्ग, इस सब्सिडी का फायदा न उठा सकें। इसके लिए प्रत्येक बीएसएल, सेल कार्मकों को एक स्पेशल आई कार्ड, पास, कूपन देने की व्यवस्था भी की जाए।

साथ ही कैंटीन में खाद्य पदार्थों की दर तथा गुणवत्ता की निगरानी के लिए कैंटीन कमेटी में यूनियन प्रतिनिधि को भी जगह दी जाए।

ये खबर भी पढ़ें :सरकार, EPFO ने स्पष्ट कर दिया-एक भी मांग EPS 95 के प्रावधान में है ही नहीं, पूरी कैसे हो…!

चाय-कॉफी और भोजन का रेट करें कम

जब बीएसएल प्रबंधन तीन वर्षों में 1 करोड़ 68 लाख रुपया का भुगतान करेगी। साथ ही मकान, बिजली,पानी बर्तन, गैस, फर्नीचर आदि भी निःशुल्क भी दिया जा सकता है। तब तो चाय, कॉफी एक-दो रुपया में, खाना-नाश्ता 5 रुपया में दिया जाना चाहिए।
दिलीप कुमार-महासचिव, बीएकेएस बोकारो

ये खबर भी पढ़ें : Good News: कोलकाता में दौड़ी देश की पहली अंडर वाटर ट्रेन, दुनिया में सबसे गहराई में बना मेट्रो स्टेशन, जानिए खास बातें