Suchnaji

SAIL Khel Mela-2023: यहां नक्सलियों की गोली नहीं, खेल में दगे गोल, रावघाट खदान के 36 स्कूलों के 1483 आदिवासी बच्चों ने मनवाया लोहा

SAIL Khel Mela-2023: यहां नक्सलियों की गोली नहीं, खेल में दगे गोल, रावघाट खदान के 36 स्कूलों के 1483 आदिवासी बच्चों ने मनवाया लोहा
  • डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता बोले-रावघाट खदान की गर्भ से निकले हुए लौह अयस्क से विश्व की सबसे लंबी रेल का निर्माण किया जाएगा।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। नक्सल प्रभावित क्षेत्र और भिलाई स्टील प्लांट के आयरन माइंस रावघाट एक बार फिर चर्चा में है। रावघाट के आसपास के गांव के बच्चों के लिए सेल खेल मेला-2023 लगा। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र और रामकृष्ण मिशन आश्रम नारायणपुर के संयुक्त तत्वावधान में सेल खेल मेला-2023 का समापन भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ।

ये खबर भी पढ़ें:   FY 2022-23: भिलाई स्टील प्लांट ने भारतीय रेलवे को भेजी 260 मीटर लंबी 1000 रेक रेल पटरी

AD DESCRIPTION

इस वर्ष सेल खेल मेला-2023 में रावघाट अंचल के नारायणपुर एवं ओरछा ब्लाक के गांवों के 36 स्कूलों से लगभग 1483 आदिवासी छात्र-छात्राओं ने भाग लिया एवं 86 खेल प्रशिक्षकों ने हिस्सा लिया था। सेल खेल मेला में फुटबाल, वॉलीबाल, खो-खो, एथलेटिक्स, बैडमिंटन इत्यादि खेल आयोजित किए गए।

कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ सन्यासी एवं आचार्य, ब्रह्मचारी प्रशिक्षण केन्द्र, बेलुर मठ स्वामी पूर्णानन्द महाराज ने किया। सचिव, रामकृष्ण मिशन आश्रम (नारायणपुर) स्वामी व्याप्तानन्द महाराज के साथ विशिष्ट अतिथि के रूप भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (खदान एवं रावघाट) समीर स्वरूप, अध्यक्ष, जिला कांग्रेस (नारायणपुर), देवनाथ उसेंडी, अध्यक्ष हैंडबॉल एसोसिएशन, छत्तीसगढ़ जी सुरेश उपस्थित रहे।

ये खबर भी पढ़ें:   SAIL BSP Accident: भिलाई स्टील प्लांट में मालगाड़ी के दो वैगन बंकर में गिरे, लाखों का नुकसान

इसके अतिरिक्त भिलाई इस्पात संयंत्र के खेल एवं सांस्कृतिक विभाग प्रमुख सहीराम जाखड़, महासचिव (छत्तीसगढ़ फुटबॉल एसोसिएशन), मोहनलाल, प्रवीण उपाध्याय, अंतराष्ट्रीय फुटबॉल कोच जवाहर दास, प्राचार्य, विवेकानंद विद्यापीठ स्वामी कृष्णामृतानन्द सहित अन्य वरिष्ठ सन्यासीगण उपस्थित थे। इसके साथ ही आश्रम द्वारा संचालित स्कूलों के समस्त शिक्षक-शिक्षिकाएं सहित अन्य कर्मचारिवृन्द तथा प्रतिभागी बच्चे इस अवसर पर मौजूद रहे।

बीएसपी गांव में बढ़ा रहा सामाजिक जिम्मेदारी का दायरा

विदित हो कि सेल खेल मेला-2023 के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में कार्यपालक निदेशक (परियोजनाएं) एस मुखोपाध्याय तथा विशेष अतिथि के रूप में कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) एके चक्रवर्ती सहित रामकृष्ण मिशन आश्रम (नारायणपुर) के सचिव, स्वामी व्याप्तानन्द जी महाराज उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़ें:   SAIL अधिकारियों के खाते में साढ़े 3 लाख तक PRP, दीपावली पर 40% और मिलेगा, इधर-कर्मचारियों के 39 माह के बकाया एरियर पर सब चुप

सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा इस क्षेत्र के विकास हेतु रावघाट परियोजना के अंतर्गत सीएसआर के माध्यम से विभिन्न प्रकार के सामाजिक कल्याण के कार्य किये जा रहे है। इसके तहत इस क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं, षिक्षा का विकास, पेयजल की सुविधा, आधारभूत संरचना का विकास, दिव्यांगजनों हेतु सहायक उपकरणों का वितरण, आदिवासी संस्कृति का संवर्धन आदि सकारात्मक विकास के अलावा आदिवासी युवाओं में खेलकूद को बढ़ावा देने के प्रयास भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा किये जा रहे हैं तथा ये कार्य आगे भी अनवरत जारी रहेंगे।

2006-07 से हो रहा खेल मेला

भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता ने शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के साथ ही मानवता के कल्याण हेतु प्रतिबद्ध तथा देश-विदेश में ख्याति प्राप्त संस्थान रामकृष्ण मिशन आश्रम की प्रशंसा की। खेल के क्षेत्र में बच्चों के उल्लेखनीय विकास हेतु सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र और रामकृष्ण मिशन आश्रम, नारायणपुर के तत्वावधान में वर्ष 2006-07 से सेल खेल मेला का आयोजन किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें: सेक्टर 9 हॉस्पिटल डोम शेड विवाद: भिलाई नगर निगम ने अवैध बताकर किया किनारा, BSP ध्वस्त करने की तैयारी में

रावघाट के आयरन ओर से बनेगी दुनिया की सबसे लंबी रेल पटरी

-डायरेक्टर इंचार्ज अनिर्बान दासगुप्ता ने कहा कि खेल के माध्यम से खिलाड़ी देश-विदेश में ख्याति प्राप्त कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं।
-उन्होंने कहा कि भिलाई इस्पात संयंत्र अपने स्थापनाकाल से ही अपनी गौरवशाली परम्परा को गढ़ते हुए उत्पादन एवं उत्पादकता के नए शिखर चूम रहा है तथा अपनी सामाजिक एवं सामुदायिक विकास की नित नई पहल से लोगों के जीवन में खुशियों के रंग भर रहा है।
-दासगुप्ता ने कहा कि भिलाई इस्पात संयंत्र की गौरवशाली यात्रा में अब रावघाट खदान का नाम भी जुड़ गया है।
-रावघाट खदान की गर्भ से निकले हुए लौह अयस्क से विश्व की सबसे लंबी रेल का निर्माण किया जाएगा।
-आईएनएस विक्रांत जैसे नौसेना के जहाजों में तथा गंगनयान, चंद्रयान जैसे उपग्रह प्रक्षेपण वाहनों में तथा नदियों पर बनने वाले विशाल ब्रिजों, देश के गगनचुंबी इमारतों, अनगिनत मंदिर-मस्जिद व गिरजाघरों के निर्माण में रावघाट की इस पवित्र भूमि से निकले हुए लौह अयस्क का उपयोग किया जाएगा।
-यह हम सभी के लिए गर्व का विषय है। अंत में उन्होंने इस भव्य आयोजन के लिए सभी को बधाई दी तथा विजेताओं को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

ये खबर भी पढ़ें: SAIL BSP में जल्द हो ठेका श्रमिकों का 15 लाख का दुर्घटना बीमा, मजदूरी वापस लेने वाले ठेकेदारों पर हो एक्शन

जानिए विजेता टीम के नाम

फुटबॉल प्रतियोगिता के बालक वर्ग में रामकृष्ण मिशन, नारायणपुर विजेता रही और खेल परिसर नारायणपुर उपविजेता रही। वालीबॉल प्रतियोगिता के बालक वर्ग में एकलव्य विद्यालय, छेरीबेड़ा विजेता और रामकृष्ण मिशन, नारायणपुर उपविजेता रही। खो-खो में रामकृष्ण मिशन, नारायणपुर विजेता रही और एकलव्य विद्यालय, छेरीबेड़ा उपविजेता रही। वॉलीबाल में बालिका वर्ग में रामकृष्ण मिशन, नारायणपुर विजेता रही और एकलव्य विद्यालय छेरीबेड़ा उपविजेता रही। खो-खो में बालिका वर्ग में रामकृष्ण मिषन नारायणपुर विजेता रही और माँ शारदा विद्यामंदिर, ओरछा उपविजेता रही।