Suchnaji

तो क्या EPS 95 न्यूनतम पेंशन 1000 रुपए से भी हो जाएगी कम…?

तो क्या  EPS 95 न्यूनतम पेंशन 1000 रुपए से भी हो जाएगी कम…?
  • भारत के 78 लाख सेवानिवृत्त ईपीएस 95 के बुजुर्गों की न्यूनतम पेंशन के निर्धारण के समस्या का अबतक समाधान नहीं हो पाया है।

सूचनाजी न्यूज, छत्तीसगढ़। ईपीएस 95 न्यूनतम पेंशन 1000 रुपए पेंशनर्स को दी जाती है। अब सवाल ये है कि इस पेंशन को साढ़े 7 हजार रुपए की मांग करने वालों को झटका लग सकता है क्या? क्या 1000 से भी कम हो सकती है पेंशन…। किन मामलों में ऐसा हो सकता है। इस बात को सोशल मीडिया पर पेंशनर्स Ramakrisha Pillai ने उठाया है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 Higher Pension: उच्च पेंशन के कैल्कुलेशन का Coimbatore ने दिया फॉर्मूला, पढ़िए डिटेल

फेसबुक पोस्ट के मुताबिक अगर आपने प्रारंभिक पेंशन का विकल्प चुना है। यह 58 वर्ष की आयु प्राप्त करने से पहले है। दूसरे शब्दों में, यदि आपने 50 साल से 57 तक पेंशन का विकल्प चुना है, तो यह आनुपातिक रूप से कम होगा।

ये खबर भी पढ़ें : ईपीएस 95 पेंशन: कोर्ट के फैसले में छुपा है पेंशनर्स का अधिकार, कोई पकड़ नहीं पाया

वहीं, उनके लिए कम होगा, जिन्होंने कम्युटेशन का लाभ उठाया। इनकी पेंशन 180 महीने के लिए 1/3 पेंशन कम हो जाएगी। इसी तरह ROC लेने वालों के लिए यह कम होगा। आरओसी की ओर मासिक पेंशन से 10% की कटौती की गई है।

पेंशनर्स ने दावा किया कि मेरी 40% तक पेंशन कम हो रही थी और मुझे सिर्फ 729.00 रुपये की नेट पेंशन मिल रही थी। 15 साल बाद भी कम्युटेशन बेनिफिट में कोई कटौती नहीं की गई है।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 Pension: न्यूनतम पेंशन के संशोधन को लेकर उठी आवाज, ये है मन की बात

वित्त वर्ष 2014-2015 के लिए ईपीएफओ के वार्षिक खातों में इन कटौती की ओर एक नोट है। अब मुझे 1224/माह पेंशन मिल रही है।

मुझे लगता है कि यह उचित है। अन्यथा, यह अन्य ईपीएस सदस्यों के साथ अन्याय या भेदभावपूर्ण होगा, जिन्होंने उपर्युक्त किसी भी लाभ का लाभ नहीं लिया।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 पेंशनर्स की भड़ास निकली सरकार, EPFO पर, पढ़िए डिटेल

पेंशनर्स Indranath Thakur ने अपना दर्द बयां करते हुए लिखा-चन्द दिनों बाद लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू हो जाएगी। शीतकालीन संसद की 17 वीं लोकसभा का अवसान भी हो चुका है। किन्तु भारत के 78 लाख सेवानिवृत्त ईपीएस 95 के बुजुर्गों की न्यूनतम पेंशन के निर्धारण के समस्या का अबतक समाधान नहीं हो पाया है। यह सच है कि कमांडर अशोक राउत एक उन्नत आत्मा एक विनम्र व्यक्ति इन बुजुर्गों के आन्दोलन को राष्ट्र व्यापी बनाया है।

ये खबर भी पढ़ें : E-PPO: ऑनलाइन पेंशन मैनेजमेंट सिस्टम का उठाइए फायदा, ये है 7 मॉड्यूल