Suchnaji

Bhilai Steel Plant के ED Mines बिपिन कुमार गिरि को मिला इंटरनेशनल अवॉर्ड, पढ़िए डिटेल

Bhilai Steel Plant के ED Mines बिपिन कुमार गिरि को मिला इंटरनेशनल अवॉर्ड, पढ़िए डिटेल
  • राष्ट्रीय खनिज विकास निगम (एनएमडीसी), कोल इंडिया लिमिटेड, गुजरात खनिज विकास निगम जैसे प्रतिष्ठित खनन संगठन, ऑस्ट्रेलिया, स्वीडन, तुर्की, बांग्लादेश के एक्सपर्ट पहुंचे।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल (Steel Authority of India Limited-SAIL) के भिलाई स्टील प्लांट (Bhilai Steel Plant) के ईडी माइंस (ED Mines) को इंटरनेशनल अवॉर्ड मिला है।  सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र (SAIL Bhilai Steel Plant) के कार्यपालक निदेशक (माइंस) बिपिन कुमार गिरि को ‘सुरक्षित और सतत खनन प्रौद्योगिकियों और माइनिंग एक्सपो (IConSSMT-2024)’ अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में, प्रतिष्ठित ‘सुरक्षित और सतत खनन विकास’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant: महिला कर्मचारियों का कॅरियर संवारने आई ‘शक्ति आन्या

इस तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन, कोयला मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा, इंडियन माइनिंग इंजीनियरिंग जर्नल के सहयोग से 19 फरवरी से 21 फरवरी 2024 तक ए के एस यूनिवर्सिटी, सतना, मध्य प्रदेश में किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : हाईकोर्ट के आदेश पर पॉवर हाउस सस्ता मार्केट में 5 कब्जेदार बेदखल, आवंटित काबिज

IConSSMT-2024 में सम्मानित अतिथि, कार्यपालक निदेशक (माइंस) बिपिन कुमार गिरि को झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम में सेल गुआ आयरन ओर माइंस में, यूनिट हेड के रूप में कार्य करते हुए, खनन के क्षेत्र में विकास, सुरक्षित और सतत खनन को बढ़ावा देने के लिए उनके योगदान हेतु, 19 फरवरी को उद्घाटन समारोह में यह सम्मान प्रदान किया गया।

ये खबर भी पढ़ें : तो क्या  EPS 95 न्यूनतम पेंशन 1000 रुपए से भी हो जाएगी कम?

सभी को पर्यावरण संरक्षण की शपथ लेनी चाहिए

बीके गिरि ने अपने संबोधन में IConSSMT-2024 पहल की सराहना करते हुए, अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन और माइनिंग एक्सपो में उपस्थित छात्र-छात्राओं और प्रतिनिधियों के साथ, सतत और सुरक्षित खनन प्रथाओं पर अपने विचार और अनुभव साझा किए। उन्होंने कहा, हमें प्रकृति के मूल तत्वों जैसे वायु, जल और पृथ्वी का संरक्षण करने की आवश्यकता है।

ये खबर भी पढ़ें : भिलाई के सेक्टर 7 में विकसित भारत संकल्प यात्रा शिविर, मनीष पांडेय ने संभाला मोर्चा

इस विश्वविद्यालय के विद्यार्थी और उपस्थित प्रतिनिधि, भारत के विकास को परिलक्षित करने वाले भावी संरक्षक हैं। हम सभी को पर्यावरण संरक्षण की शपथ लेनी चाहिए।

बिपिन कुमार गिरि ने कहा, भारत को स्थायी रूप से एक विकसित देश बनाने के लिए, हमें नवीनतम तकनीक का उपयोग करके मितव्ययी समाधान चुनने की आवश्यकता है।

ये खबर भी पढ़ें : ईपीएस 95 पेंशन,आरओसी क्लॉज: नियम स्पष्ट नहीं और मसौदा भी खराब!

तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन

यह तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन, खनन और अन्वेषण तकनीकों, चट्टान उत्खनन, कोयला/अयस्क प्रसंस्करण, इकोलॉजी और पर्यावरणीय विषयों में सतत विकास पर केंद्रित है।

इसमें 16 उप-विषय भी हैं, जिनमें जलवायु परिवर्तन-पहल, खान योजना, खनन में आईटी की भूमिका, पर्यावरण प्रबंधन, खान सुरक्षा (प्रबंधन, मूल्यांकन और लेखा परीक्षा) आदि जैसे महत्वपूर्ण विषय शामिल हैं।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 पेंशन कामगारों के लिए एक त्रासदी, EPFO को करें बंद

ऑस्ट्रेलिया, स्वीडन, तुर्की, बांग्लादेश के प्रतिनिधि भी पहुंचे

विदित हो, प्रति वर्ष कोयला मंत्रालय (भारत सरकार) व माइनिंग एक्सपो द्वारा समर्थित, खनन पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन ए के एस विश्वविद्यालय (सतना) में किया जाता है। इसमें राष्ट्रीय खनिज विकास निगम (एनएमडीसी), कोल इंडिया लिमिटेड (Coal India Limited), गुजरात खनिज विकास निगम जैसे प्रतिष्ठित खनन संगठन शामिल होते हैं।

ऑस्ट्रेलिया, स्वीडन, तुर्की, बांग्लादेश आदि देशों सहित प्रतिष्ठित विदेशी संस्थानों का प्रतिनिधित्व करने वाले कई प्रतिनिधि, इस वर्ष के सुरक्षित और सतत खनन प्रोद्योगिकी-2024, अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में भाग ले रहे हैं।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL Durgapur Steel Plant: ट्रैक्टर ने कर्मचारी को कुचला, मौके पर मौत, कर्मचारियों का हंगामा